जल संरक्षण पर आईटीआई परिसर में विचार गोष्ठी का आयोजन



धनसिंह—समीक्षा न्यूज   

नोएडा। विश्व जल दिवस के अवसर पर सामाजिक संगठन महिला उन्नति संस्था (भारत) द्वारा जल संरक्षण को लेकर ग्रेटर नोएडा वेस्ट के इकोटेक तीन स्थित आई टी आई परिसर में विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया । गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए भारत सरकार द्वारा जल नायक सम्मान से सम्मानित  मशहूर पर्यावरणविद विक्रांत तोंगड ने भूजल के गिरते स्तर पर चिन्ता जताते हुए कहा कि क्षेत्र में हर वर्ष 2 से 3 मीटर भूजल का स्तर गिरना बेहद चिन्ता का विषय है यदि इसे समय रहते नहीं रोका गया तो आने वाले समय में हालात बहुत भयावह होंगे। इसके लिये हमें भूजल स्रोतों को पुनर्जीवित करना होगा। उन्होने सरकार द्वारा वर्षा के जल का संचयन करने के लिये राष्ट्रीय स्तर पर चलाये गये  कैच द रैन  अभियान का स्वागत करते हुए कहा कि वर्षा के जल को संरक्षित कर जल संकट की समस्या पर काबू पाया जा सकता है। वहीं संस्था की संरक्षक और आई टी आई संचालिका इन्दु गोयल ने दैनिक जीवन में उपयोग में आने वाले पानी की बचत करके भी हम जल की बर्बादी रोक सकते है यह कार्य केवल सरकार या प्रशासन के बूते नहीं किया जा सकता है इसके लिये जनभागीदारी की आवश्यक्ता है इसलिये शासन-प्रशासन द्वारा स्वयं सेवी संस्थाओं के साथ मिलकर जल संरक्षण और पौधारोपण को लेकर जागरुकता अभियान चलाने होंगे  ताकि लोग जल संरक्षण एवं पर्यावरण संरक्षण को अपनी  जिम्मेदारी समझकर इस मुहिम में सहयोग कर सके। विश्व जल दिवस पर संस्था द्वारा जल एवं पर्यावरण की दिशा में उल्लेखनीय कार्य किये जाने पर जल नायक विक्रांत तोंगड को समाजसेवा सम्मान देकर सम्मानित किया गया। गोष्ठी मे संस्था के संस्थापक डा राहुल वर्मा, अनिल भाटी, रणवीर चौधरी, विजय तंवर, ओमदत्त शर्मा, मनोज झा और नरेश आदि ने जल संरक्षण को लेकर अपने विचार रखे।