उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़वाते हुए खरीदी जा रही शराब

 


धनसिंह—समीक्षा न्यूज 

गाजियाबाद। जैसा कि वर्तमान में समस्त भारतीय नागरिक रोजगार से परेशान हैं उसी के साथ साथ घर का खर्चा चलाना भी काफी मुश्किलों का सामना करना हो गया है फिर भी उसी के अनुरूप उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शराब  की दुकानें खुलवाने से ठेकों पर बिना सोशल डिस्टेंसिंग के खरीदी जा रही शराब से कभी भी कोरोना बम फट सकता है। उत्तर प्रदेश की स्थिति बहुत ही भयंकर बन सकती है। यूपी में पिछले कुछ समय से बंद शराब के ठेके आज से हर जिले में शराब के ठेके खोले गए है जिससे बहुत अधिक कोरोना केस में इजाफा हो सकता है क्योंकि वर्ष 2020  की अचानक शराब के ठेके खोले गए थे जिससे वहां की व्यवस्था खराब होने के कारण बहुत ही ज्यादा कोरोना वायरस के मरीज बढ़ गए थे उसी प्रकार आज शराब के ठेकों पर भीड़ बढ़ गई है। उत्तर प्रदेश सरकार को केवल अन्य दुकानदारों से एवं व्यापारियों की दुकानों में ही कोरोना वायरस दिखता है सब लोगों के सब काम चालू है केवल व्यापारियों की दुकानें बंद है जबकि व्यापारी वर्ग हमेशा भारत सरकार एवं उत्तर प्रदेश सरकार की गाइड लाइन के अनुसार ही अपने व्यवसाय को चलता है। आकस्मिक आदेश सरकार द्वारा ठेके खुलने के आदेश का अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल जनपद गाजियाबाद खुल कर विरोध करता है। ओर कड़े शब्दों में उत्तर प्रदेश के इस निर्णय की निंदा करता है।

और साथ-साथ आपसे अपील भी करता है कि जल्द से जल्द समस्त व्यापारियों को समय अनुसार सभी दुकानें खोलने का आदेश पारित करते हुए सेवा करने का अवसर प्रदान करें।