सादगी के साथ लोनी में मनाई गई भगवान परशुराम जयंती






धनसिंह—समीक्षा न्यूज 

लोनी। कोविड गाइडलाइंस के बीच लोनी में जगह-जगह भगवान परशुराम जयंती सादगी के साथ लोगों ने घरों में मनाई। संगम विहार गौड़ पब्लिक स्कूल में भाजपा नेता पं ललित शर्मा, राष्ट्रवादी ब्राह्मण महासंघ और व्यापार मंडल ने भगवान परशुराम की पूजा, आरती और यज्ञ कर जन्मोत्सव मनाया।

भाजपा नेता पं ललित शर्मा ने बताया कि त्रेता युग में इस दिन भगवान परशुराम का जन्म ऋषि जमदग्नि और रेणुका के यहां हुआ था। भगवान परशुराम भगवान विष्णु के छठे अवतार माने जाते हैं। भगवान परशुराम वीरता और महानता के प्रतीक हैं। वे एक शिव भक्त थे। उन्हें अमरता का वरदान प्राप्त था। आज भी धरती पर भगवान परशुराम जी जीवित हैं। लोनी का नाम बदलकर परशुराम नगर करने के लिए क्षेत्रीय विधायक मा. नंदकिशोर गुर्जर जी लगातार प्रयासरत है। उनके द्वारा दिया गया प्रस्ताव सरकार में प्रक्रियाधीन है। लोनी भगवान परशुराम जी की तपोभूमि है और लोनी का नाम परशुरामनगर किया जाना व्यवहारिक एवं सनातन धर्मियों की आस्था का विषय है। राष्ट्रवादी ब्राह्मण महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवेश दत्त भारद्वाज और व्यापार मंडल अध्यक्ष कैलाश शर्मा ने बताया कि भगवान विष्णु के अवतार परशुराम जी का पृथ्वी पर अवतरण बैशाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया को हुआ था। इस दिन भक्त व्रत, पूजन के साथ व्रत रखते हैं। इस बार कोरोना संक्रमण के कारण सभी कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए। लोगों ने अपने घरों में रहकर ही भगवान परशुराम का जनमोत्स्व लोनी में मनाया है। इस अवसर पर राष्ट्रवादी ब्राह्मण महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवेश दत्त भारद्वाज, व्यापार मंडल के अध्यक्ष कैलाश शर्मा, प्रवासी विकास मंच के अध्यक्ष सुशील श्रीवास्तव, भाजपा नेता गौरी शंकर पांडे, पंडित तनु शर्मा, उमेश शर्मा, विक्की पंडित, ललित शर्मा, सुशील शर्मा, रमेश पंडित व अन्य उपस्थित थे।