संघर्ष और ज्ञान के सहारे ही सफलता संभव है: नरेंद्र कश्यप



समीक्षा न्यूज 

गाजियाबाद। आज एम एम एच महाविद्यालय में पुरस्कार वितरण समारोह में मुख्य अतिथि पिछड़ा वर्ग कल्याण, दिव्यांगजन सशक्तिकरण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) नरेन्द्र कुमार कश्यप ने छात्रों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि संघर्ष और ज्ञान के सहारे जीवन में सफलता सुनिश्चित है। उन्होंने अपने अनुभव साझा करते हुए बताया कि इसी महाविद्यालय से पढ़ते हुए, गुरुओं से ज्ञान और मार्गदर्शन ले आज यहां तक पहुंचा हूं, आप भी मुझसे ज्यादा सफल होंगे, यही शुभकामना है। उन्होंने छात्रहित में महाविद्यालय की आधारभूत अवसंरचना हेतु सड़क निर्माण कराने की उद्घोषणा की।

विद्यावती महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ शिखा सिंह ने मेधावी विद्यार्थियों को बधाई देते हुए कहा कि जीवन में मेहनत का कोई विकल्प नहीं है। इसी से सम्मान प्राप्त होता है।

उत्तर प्रदेश उच्च शिक्षा सेवा चयन आयोग के पूर्व सदस्य डॉ बी बी सिंह ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा कि आज विशिष्ट दिन है जब महाविद्यालय अपनी उत्कृष्टता का अहसास अपने मेधावी छात्र छात्राओं के माध्यम से करता है। यहां आध्यात्मिक वातावरण में सारस्वत ज्ञान के साथ मूल्यों, संस्कारों से सज्जित कर छात्र को दुनिया के सम्मुख किया जाता है, जिसका आज पहला दिन है। सफलता यदि पहचान दिलाती है तो असफलता बल देती है, इससे घबराना नहीं है, जूझना है, गुरुओं का आशीर्वाद हमेशा साथ है।

प्राचार्य डॉ पीयूष चौहान ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि मेधावी छात्रों के जीवन में आज एक महत्वपूर्ण दिन है जबकि उनकी मेहनत को सम्मानित किया जा रहा है, इससे महाविद्यालय भी गौरवान्वित महसूस कर रहा है।

इससे पहले महाविद्यालय की छात्राओं ने कुलगीत एवं स्वागत गीत गाकर सभी का स्वागत किया। रिया यादव को एम ए अर्थ शास्त्र में विश्वविद्यालय स्वर्ण पदक प्राप्त करने पर सम्मानित किया गया। तनिषा त्यागी एवं शिवानी राठौर को पांच पांच उत्कृष्टता मेडल मिले। कुल तीस छात्र छात्राओं को विभिन्न श्रेणियों में 48 स्वर्ण पदक दिए गए, जबकि दो छात्रों को छात्रवृत्ति दी गई। पोषिका, गिन्नी भाटी एवं पूजा को नकद पुरस्कार प्रदान किया गया। जबकि एन सी सी कैडेट अमन पुष्प को गणतंत्र दिवस परेड में राज्यपाल पदक प्राप्त करने हेतु सम्मानित किया गया।

विशिष्ट अतिथियों में पूर्व प्राचार्य डॉ एम पी सिंह, प्राचार्य एस डी कालेज डॉ अखिलेश मिश्रा, मंत्रीजी के तीनों प्रतिनिधि विशाल कश्यप, सौरभ जायसवाल एवं आशुतोष कश्यप जी रहे। कार्यक्रम का संचालन डॉ रीना सिंह एवं धन्यवाद ज्ञापन डीन डॉ केशव कुमार जी ने किया। डॉ जे एल रैना, डॉ चंद्र भूषण, डॉ एम एल गुप्ता, डॉ आर एस त्यागी, डॉ आर के वर्मा, डॉ चरन सिंह, डॉ आर एम जौहरी, डॉ एस सी कालरा, डॉ एम सी बंसल, श्री ओ पी भार्गव, डॉ रेनू शर्मा, डॉ सुमन तोमर, डॉ मुन्नी देवी, डॉ सुमन अग्रवाल, डॉ आर पी यादव समेत कई पूर्व शिक्षक,  महाविद्यालय के समस्त शिक्षकों  के साथ मेधावी विद्यार्थियों के परिजन, कई गणमान्य नागरिक एवं छात्र छात्राएं उपस्थित रहे।