बिमारी कोई भी हो, इलाज है आरडब्लूए



23 नवम्बर 2020 , मुख्यालय आर डब्लू ऐ फेडरेशन गाज़ियाबाद , 133 बी मोडल टाउन ईस्ट गाज़ियाबाद – यहाँ RWAs की एक राष्ट्रिय वेबिनार आयोजित की गई | वेबिनार में आर डब्लू ऐ के राष्ट्रिय संगठन Confederation of RWA ( CoRWA ) , राष्ट्रिय राजधानी क्षेत्र के शीर्ष संगठन Confederation of NCR Resident Welfare Associations , ( CONRWA ) , दिल्ली की United Residents Joint Action ( URJA ) , दिल्ली की United Residents Delhi ( URD ) , RWA Federation Ghaziabad के शीर्ष प्रतिनिधियों ने भाग लिया |

23 नवम्बर को 2012 से RWAs का  राष्ट्रिय दिवस के रूप में मनाया जा रहा है | व्यापारी हो या उधोगपति , सैनिक हो या नागरिक , इंजिनियर हो या डाक्टर , छात्र हो या छात्रा सब रहते RWAs में ही है | इसलिए RWAs की एकत्रित बुद्धिमता का कोई समानांतर नही है | इसलिए सभी सरकारी योजनाओं की सफलता के लिए उनमे किसी न किसी स्तर पर RWAs का सम्मलित होना अनिवार्य है | CoRWA के अध्यक्ष डा वी बी जे चेलिकानी ने साबित किया की RWAs भारत के प्रबंधन में चौथा स्तम्भ है | CONRWA के अध्यक्ष श्री पी एस जैन ने कहा की हमे राष्ट्रिय स्तर पर केवल कोरोना , प्रदूषण और मान्यता के मुद्दे उठाने चाहिए | उर्जा के उपाध्यक्ष विंग कमांडर चड्डा ने कहा की वायु प्रदूषण बिना RWAs के सहयोग के नियंत्रित नहीं किया जा सकता | URD के महासचिव श्री गौरव गांधी ने सुझाव दिया की स्थानीय पार्षद और विधायक की सफलता RWAs की भागीदारी से तय की जानी चाहिए और आर डब्लू ऐ एक्ट बनना चाहिए |

डा अंजू पचौरी , अनीता सिंह , एडवोकेट अंशु त्यागी , सुनीता भाटिया  ने संयुक्त रूप से मांग की की आज के बाद पंजीकृत होने वालें सभी RWAs और सभी सांस्कृतिक एवं अन्य संगठनो में एक तिहाई महिलाए अवश्य ही शामिल की जानी चाहिए |

इस अवसर पर   डा के एस आर मूर्ति , मेजर सुशिल गोयल , सुश्री चेतना सेनी , श्री जय दीक्षित , लाइन पार आर डब्लू ऐ फेडरेशन के अध्यक्ष आर के आर्या , अनिल शर्मा , बी टी श्रीनिवासन , रमेश प्रभु , वेन्यु गोपाल , वी वी राव , पवन मेंनी , सुरेश गोयल , वी ऍन राव ने भी महत्वपूर्ण सुझाव दिए जिन्हें कार्यवत में शामिल किया जायेगा |

उपरोक्त सभी संस्थाओ से संबंधित कर्नल तेजेंद्र पाल त्यागी ने कहा की RWAs को केवल गली , महोल्ले तक सिमित न समझा जाए बल्कि हर वो काम जो RWAs कर सकती है उसे बड़ी संस्थाओ से नही करवाना चाहिए | यह प्रबंधन का सबसे बड़ा सिद्धांत हैं | 

कर्नल तेजेंद्र पाल त्यागी 

चैयरमेन , आर डब्लू ऐ फेडरेशन गाज़ियाबाद