131वी जयंती पर खुदीराम बोस को किया नमन व महाशय धर्मपाल जी को दी श्रद्धांजलि


धनसिंह—समीक्षा न्यूज     

अमर शहीद खुदीराम बोस नीव के पत्थर बने-राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य

गाज़ियाबाद। वीरवार को केन्द्रीय आर्य युवक परिषद ने देश की आजादी के महान क्रांतिकारी खुदीराम बोस की 131 वीं जयन्ती पर गूगल मीट पर याद किया व मसालों के बादशाह,एम डी एच के मालिक महाशय धर्मपाल जी के निधन पर श्रद्धांजलि अर्पित की।

केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि 19 वर्ष की आयु में फाँसी के फंदे पर झूलने वाले सबसे कम आयु के क्रांतिकारी थे, उन्होंने बंग भंग के आंदोलन में भी भाग लिया।आज युवाओं के ऐसे देश भक्तों से प्रेरणा लेकर आजादी की रक्षा का संकल्प लेना चाहिए।साथ ही अनिल आर्य ने महाशय धर्मपाल जी को भी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि पाकिस्तान से दिल्ली आकर बारा टूटी चौक से सदर बाजार तांगा चलाने वाला व्यक्ति एक मसालों का बादशाह बना।वह आर्य केन्द्रीय सभा दिल्ली राज्य के भी कई वर्षों से प्रधान चल रहे थे व अनेको आर्य संस्थाओं, गुरुकुलों की अपार आर्थिक सहायता भी करते थे। 96 वर्षीय महाशय जी के चले जाने से एक युग का अंत हो गया है।

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह,एमिटी शिक्षण संस्थान के निदेशक आनन्द चौहान,आंनद प्रकाश आर्य(हापुड),उत्तर प्रदेश प्रान्तीय महामंत्री प्रवीण आर्य, आचार्य महेन्द्र भाई,धर्मपाल आर्य,सौरभ गुप्ता,नरेंद्र आहूजा विवेक,उर्मिला आर्या,दीप्ति सपरा,ओम सपरा,यशोवीर आर्य, आस्था आर्या,दुर्गश आर्य, देवेन्द्र भगत आदि ने भी आर्य नेता महाशय धर्मपाल जी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कर्मयोगी की संज्ञा दी।