कोविड-19 टीकाकरण हेतु निर्मित पोर्टल पर चर्चा के साथ-साथ दिये आवश्यक दिशा—निर्देश



धनसिंह—समीक्षा न्यूज

गाजियाबाद। जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय की अध्यक्षता में जिला टास्क फोर्स की महत्वपूर्ण बैठक कलेक्ट्रेट स्थित महात्मा गाँधी सभागार में आयोजित की गयी। बैठक में राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 टीकाकरण हेतु निर्मित पोर्टल पर चर्चा के साथ-साथ टीकाकरण हेतु जनपद गाजियाबाद में वैक्सीन की उपलब्धता, उसके उचित रखरखाव, टीकाकरण हेतु माईक्रोप्लान, गुणवत्तापूर्वक टीकाकरण एवं पर्यवेक्षण पर विस्तृत चर्चा की गयी। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि कोविड-19 टीकाकरण के सम्बन्ध में भारत सरकार द्वारा विभिन्न स्तरों पर होने वाले विचार विमर्श से ऐसा अनुमान है कि कोविड-19 वैक्सीन निकट भविष्य में प्राप्त होने की उम्मीद है। जिसके लिए उन्होंने उपस्थित सभी अधिकारियों को कोविड-19 टीकाकरण की तैयारियों शुरू करने के निर्देश दिये। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि कोविड-19 वैक्सीन के प्रथम चरण में विभिन्न सरकारी/गैर सरकारी चिकित्सालयों, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों (नगरीय एवं ग्रामीण). आयुष चिकित्सालयों इत्यादि में कार्यरत विभिन्न स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण करने का प्रयास किया जायेगा

जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि सरकारी चिकित्सा इकाईयों से सम्बन्धित स्वास्थ्य कर्मियों की आवश्यक सूचना सम्बन्धित पोर्टल पर शत-प्रतिशत अपलोड करा दी जायें, जिनकी मैपिंग सजगता के साथ की जाये। इसके साथ ही निजी चिकित्सा इकाईयों से सम्बन्धित स्वास्थ्य कर्मियों से सम्बन्धित सूचना शीघ्र शत-प्रतिशत पूर्ण करा ली जाये। इसके अलावा जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि जो प्राईवेट अस्पताल अपने कर्मियों की सचना उपलब्ध नही करा रहें है, उनके विरूद्ध पैण्डमिक एक्ट के तहत कार्यवाही की जायेउन्होंने निर्देशित किया कि वैक्सीन के उचित रखरखाव हेतु पर्याप्त स्थान की उपलब्धता सुनिश्चित कर ली जाये। जिस पर मा नी द्वारा अगवत कराया गया कि जनपद में 29 कोल्ड चेन प्वाईन्ट स्थापित कर लिये गये है एवं सरकार द्वारा 12 अतिरिक्त आई0एल0आर0 एवं 12 डी-फीजर जनपद को वैक्सीन के संरक्षण के लिए मिलेंगे। इसके साथ ही मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया कि जनपद में कुल 236 पैथोलॉजी लैब रजिस्टर्ड है, जिनमें कोविड वैक्सीन के रखरखाव की जानकारी प्राप्त कर ली जाये। इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि रजिस्टर्ड पैथ लैब को कोविड वैक्सीन की उपलब्धता/डिमाण्ड के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त कर ली जाये। वैक्सीन के सम्बन्ध में Do's & Dont's पर नज़र रखने हेतु इन्टीग्रेटिड कोविड कन्ट्रोल रूम में चिकित्सा विभाग से एक अधिकारी की तैनाती के भी निर्देश जिलाधिकारी ने दिये। जनपद स्तर पर जिला प्रशासन एवं चिकित्सा विभाग द्वारा वैक्सीन प्राप्त होने के उपरान्त एक सप्ताह में 25 हजार लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा गया है।

बैठक में जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि वह वैक्सीन की उपलब्धता एवं प्रथम चरण के टीकाकरण के सम्बन्ध में एक माईको प्लान तैयार कराने के निर्देश दिये हैइसके साथ ही सम्बन्धित विभागों से वैक्सीन प्राप्त होने सम्बन्धी सभी आवश्यक व्यवस्थाओं/तैयारियों के सम्बन्ध में उनसे प्रमाण पत्र प्राप्त कर दिनांक 15-12-2020 तक अवगत कराने के निर्देश दिये हैजिलाधिकारी ने जनपद स्तर पर कोविड वैक्सीन हेतु समस्त आवश्यक व्यवस्थाओं एवं तैयारी हेतु मुख्य विकास अधिकारी को नोडल बनाया है।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल, मुख्य चिकित्साधिकारी एन0के0 गुप्ता, डा0 आर0के0 गुप्ता नोडल अधिकारी सहित तमाम अन्य सम्बन्धित जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अतिरिक्त आई0एम०ए०, नीमा, विभिन्न गैर सरकारी स्वास्थ्य संगठनों के प्रतिनिधियों द्वारा प्रतिभाग किया गया।