कैसे हो आने वाले वर्ष मेरे यार


टिवंकल टिवंकल लिटिल स्टार

कैसे हो आने वाले वर्ष मेरे यार

बचपन यही लय सुन बड़ा हुआ
बचकाना प्रश्न आज भी है तैयार

पिछली बार आये कोरोना लेकर
अब कौतुक मेरा मेरे प्रश्न हज़ार

क्या स्वागत करूँ कैसे करूँ मैं
कैसे खोलूँ खुशी से अपना द्वार

पिछले बरस रुलाया तुमने बहुत
खोए मैने तुझमे अपने कई यार

मेरे मन को उत्साहित करता तू
हाओ आई वंडर व्हाट यू आर

प्रश्नों की माला लेकर हाथ मे मैं
तेरे आने का कर रहा हुँ इंतजार

ए बीस इक्कीस खुशियां लाना
सच कहता फिर मुझे तू स्वीकार

करना ज्ञान पथ पे तु अग्रसर हमें
गफ़लत से निकाल मुझे इस बार

गफलत से निकाल मुझे

अशोक सपड़ा हमदर्द