राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की पुण्यतिथि पर “शहीद दिवस” का आयोजन


धन



सिंह—समीक्षा न्यूज    

साहिबाबाद। लोक शिक्षण अभियान ट्रस्ट द्वारा ज्ञानपीठ केन्द्र 1, स्वरुप पार्क जी0 टी0 रोड साहिबाबाद के प्रांगण में राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के “शहीद दिवस” का आयोजन किया गया, अध्यक्षता सी0 पी0 सिंह ने, मुख्य वक्ता समाजवादी पार्टी के वरिष्ट नेता राम दुलार यादव रहे| संचालन शिक्षाविद राम प्यारे यादव ने, आयोजन हाजी मोहम्मद सलाम ने किया| सैकड़ों साथियों ने महात्मा गाँधी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर राष्ट्रपिता को श्रद्धांजलि दी और उनके विचार को स्वयं आत्मसात करते हुए जन-जन में पहुँचाने का संकल्प लिया| तथा सांप्रदायिक शक्तियों के समूलनाश के साथ धर्मनिरपेक्ष ताकतों को शक्ति प्रदान करने तथा सद्भाव, भाईचारा, प्रेम और सहयोग देश, समाज में बढे, महात्मा गाँधी के जीवन से प्रेरणा लेने का प्रण लिया| कार्यक्रम में महिला उत्थान संस्था की राष्ट्रीय अध्यक्ष बिन्दू राय ने महात्मा गाँधी का पसंदीदा भजन गाया|  

  कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए समाजवादी पार्टी के वरिष्ट नेता राम दुलार यादव ने कहा कि “राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी” सत्य, अहिंसा, त्याग की प्रतिमूर्ति थे जिन्होंने सत्याग्रह द्वारा शक्तिशाली ब्रिटिश साम्राज्य से भारत को आजादी दिलवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी, जिसके शासन में सूर्य  अस्त नहीं होता था, उसे देश से खदेड़ दिया| लेकिन अफ़सोस के साथ कहना पड रहा है कि जिस राष्ट्रपिता का ब्रिटिश सरकार बाल बांका नहीं कर पायी, उन्हें जहरीली विचारधारा के सिरफिरे ने क्रूरता पूर्वक निर्ममता से गोली चला काल कलवित कर दिया, हम सभी साथी घोर निन्दा करते हैं इस जघन्य अपराध की लेकिन अफसोस के साथ कहना पड़ रहा है कि आज 73 वर्ष बाद भी कुछ ताकतें जहरीली विचार धारा का महिमामंडन करने में लगी हुई है, तथा अपराधी और अपराध के पक्ष में वातावरण तैयार कर नवजवानों को बहकाने, झूठ बोलकर नफ़रत फ़ैलाने, राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी को छोटा करने की कोशिश कर रहे है, लेकिन हमें उनके मंसूबे पर पानी फेरते हुए नवजवानों तथा देश के धर्मनिरपेक्षता में विश्वास करने वाले लोगों में महात्मा गाँधी के विचार को जन-जन तक पहुंचाते हुए देश में समता, सद्भाव, भाईचारा कायम हो प्रयासरत रहेंगें, तभी हम महात्मा गाँधी को सच्ची श्रद्धांजलि दे रहे है| महात्मा गाँधी ने कहा कि “मेरा जीवन ही मेरा सन्देश है”|

  कार्यक्रम में प्रमुख रूप से शामिल रहे, राम दुलार यादव, वीर सिंह सैन, बिन्दू राय, रेनूपुरी, संजू शर्मा, राम प्यारे यादव, मुनीव यादव, ब्रह्म प्रकाश, ओम प्रकाश अरोड़ा, राजपाल यादव, अखिलेश कुमार शुक्ला, महेन्द्र यादव, देवमन यादव, राम सिंह यादव, माजिद ठाकरान, आस चौधरी, फौजुद्दीन, राजेन्द्र यादव, केदार सिंह, राजीव गर्ग, प्रेम चन्द पटेल, रविदास, पप्पू सिंह, हरिकृष्ण, सुरेश कुमार भारद्वाज, बैजनाथ रजक आदि|