यज्ञ के बाद निश्चित है कॉरोना की विदाई, भारत बनेगा विश्वगुरु: विधायक नंदकिशोर गुर्जर

 



धनसिंह—समीक्षा न्यूज

लोनी। शुक्रवार को लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने लोनी तिराहा स्थित दुर्गा मंदिर में वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ अंग्रेजी नववर्ष में लोनिवासियों और विश्वकल्याण के लिए महायज्ञ किया। महायज्ञ में देशभर में कॉरोना के कारण दिवंगत हुई आत्माओं की शांति के लिए भी आहुति दी गई।


विपरीत परिस्थितियों के समय में यज्ञ का महात्म्य बढ़ जाता है- नंदकिशोर गुर्जर:

इन दौरान विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने बताया कि यज्ञ एक विशिष्ट वैज्ञानिक और आध्यात्मिक प्रक्रिया है, जिसके द्वारा मनुष्य अपने जीवन को सफल बना सकता है। यज्ञ के जरिये आध्यात्मिक संपदा की भी प्राप्ति होती है। श्रीमद्भागवत् गीता में भगवान श्रीकृष्ण ने यज्ञ करने वालों को परमगति की प्राप्ति की बात की है। यज्ञ एक अत्यंत ही प्राचीन पद्धति है, जिसे देश के सिद्ध-साधक संतों और ऋषि-मुनियों ने समय-समय पर लोक कल्याण के लिए करवाया। इसलिए विपरीत परिस्थितियों के समय में यज्ञ का महात्म्य बढ़ जाता है। आज जाप और हवन के माध्यम से कॉरोना वायरस के कारण देशभर में दिवंगत हुई आत्माओं की शांति एवं कॉरोना संक्रमित लोगों के जल्द ठीक होने की कामना की गई। हमने लोनी और विश्व के मंगल कामना के उद्देश्य से महायज्ञ का आयोजन किया है जिस स्थान पर यज्ञ की पवित्र आहुतियां पड़ती है वहां कभी भी किसी भी प्रकार का हानिकारक वायरस पनप नहीं सकता। यह वैज्ञानिक दृष्टिकोण से प्रमाणित है।

इस दौरान पण्डित ललित शर्मा, राजकुमार मास्टर जी, प्रदीप गहलोत, सुशील श्रीवास्तव, जितेंद्र कश्यप, सुमित भारद्वाज, सूरज शर्मा, प्रशांत ठाकुर, कमल प्रसाद, दिलीप कुमार, विक्की पण्डित आदि ने भी यज्ञ में आहुति देकर लोककल्याण की कामना की।