"घुटनों के दर्द" विषय पर आर्य गोष्ठी सम्पन्न


धनसिंह—समीक्षा न्यूज    

दैनिक हल्का व्यायाम अत्यंत आवश्यक -डॉ. रमाकान्त गुप्ता

सूर्य की किरणें व हरी सब्जियां लाभकारी-राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य

गाज़ियाबाद। केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के तत्वावधान में "घुटनों का दर्द" विषय पर ऑनलाइन गोष्ठी का आयोजन जूम पर किया गया।यह परिषद का कोरोना काल में 153वां वेबिनार था।

अस्थिरोग विशेषज्ञ डॉ. रमाकान्त गुप्ता(पूर्व विभागाध्यक्ष,हिन्दू राव अस्पताल) ने  'घुटनों के दर्द'  पर प्रकाश डालते हुए कहा की घुटने के दर्द के प्रमुख कारणों में से कुछ पुरानी चोट,यांत्रिक समस्या और गठिया की होती है।खेल कूद के दौरान चोट के कारण घुटने में दर्द – घुटने में चोट लगने से हड्डियों, उपास्थि,लिगामेंट्स,टेंडन और तरल पदार्थ की थैली या बर्से को गंभीर नुकसान हो सकता है। उन्होंने बताया कि सामान्य अभ्यासों से,प्रतिदिन आधा घंटा अपने शरीर पर मेहनत करके इस दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है।सरसों के तेल का प्रयोग हमारे घरों में अक्सर खाना बनाने के लिए किया जाता है।घरेलू उपचार के रूप में सरसों का तेल कई प्रकार की बीमारियों को ठीक करने में प्रभावी रूप से अपना असर दिखाता है।जबकि घुटनों में होने वाले दर्द को ठीक करने के लिए भी सरसों के तेल में चमत्कारिक गुण देखे गए हैं। दैनिक हल्का व्यायाम, भ्रमण स्वस्थ रहने के लिए आवश्यक है।

केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि कुछ समय पहले तक जहां बढ़ती आयु में घुटने के दर्द की समस्या उत्पन्न होती थी,वहीं वर्तमान में,युवा वर्ग के लोग भी इस तरह के दर्द की शिकायत करते हैं।वैसे तो घुटने में दर्द की समस्या आम मानी जाती है। लेकिन वास्तव में यह काफी तकलीफ देह हो सकती है।इस स्थिति में लोग अक्सर दर्द से छुटकारा पाने के लिए दवाइयों का सहारा लेते हैं।लेकिन आप बिना दवाइयों के भी कुछ प्राकृतिक उपाय अपनाकर इस घुटने के दर्द से राहत पा सकते हैं जैसे- सूर्य की किरणों के सामने बैठने,हरी सब्जियों के सेवन व योगाभ्यास के माध्यम से दर्दो से राहत पाई जा सकती है।

सार्वदेशिक आर्य प्रतिनिधि सभा के महामंत्री प्रो.विट्ठल राव आर्य (हैदराबाद) ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कहा कि मनुष्य यदि 24 घंटों में से 1 घंटा भी यदि अपने सेहत पर नही लगा सकता तो उसका जीवन व्यर्थ है क्योंकि ये शरीर ही मनुष्य का सच्चा साथी है यह कोरोना ने सिद्ध कर दिया है।

केन्द्रीय आर्य युवक परिषद उत्तर प्रदेश के प्रांतीय महामंत्री प्रवीण आर्य ने कहा कि घुटने व जोड़ों के दर्द से राहत पाने के लिए मसाज करना एक अच्छा उपाय है।साथ ही घुटनों के सूक्ष्म व्यायामों का अभ्यास करना चाहिए।

योगाचार्य सौरभ गुप्ता ने कहा कि एक ग्लास दूध में एक चम्मच हल्दी के पाउडर को मिलाकर सुबह-शाम कम से कम दो बार पीने से घुटनों के दर्द में लाभ मिलता है।यह जोड़ों का दर्द दूर करने का सबसे कारगर घरेलू उपचार है।

गायिका पुष्पा चुघ,किरण सहगल,रविन्द्र गुप्ता,सुषमा बुद्धिराजा,प्रवीना ठक्कर,डॉ रचना चावला,डॉ कल्पना रस्तोगी आदि ने अपने गीतों से सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।

मुख्य रूप से आचार्य महेन्द्र भाई,आनन्द प्रकाश आर्य, यशोवीर आर्य,योगेंद्र शास्त्री, चन्द्रकान्ता आर्या,उर्मिला आर्या, आर पी सूरी,विकास भाटिया, ‍राजेश मेहंदीरत्ता आदि उपस्थित थे।