लोक शिक्षण अभियान ट्रस्ट द्वारा “पण्डित विनोद त्रिपाठी ज्योतिषाचार्य” का 61वां जन्म दिन मनाया


धनसिंह—समीक्षा न्यूज   

साहिबाबाद। लोक शिक्षण अभियान ट्रस्ट ने ज्ञानपीठ केन्द्र 1, स्वरुप पार्क जी टी रोड साहिबाबाद के प्रांगण में “पण्डित विनोद त्रिपाठी ज्योतिषाचार्य” का 61वां जन्म दिन आयोजित किया, कार्यक्रम की अध्यक्षता पर्यावरणविद निधि विश्वकर्मा, समाजसेविका, प्रसिद्ध कवियित्री ने किया, मुख्य वक्ता वीरेन्द्र यादव एडवोकेट जिला महासचिव समाजवादी पार्टी नि विचार व्यक्त किया| समाजवादी पार्टी के वरिष्ट नेता  शिक्षाविद राम दुलार यादव ने आशीर्वाद देते हुए विनोद त्रिपाठी के उज्जवल भविष्य और दीर्घायु होने की कामना की, तेज बहादुर भारती ने देशप्रेम से भरपूर गीत “हे मितवा, सबसे निराला मेरा देश” प्रस्तुत किया, डा0 बिशन लाल गौड़ ब्योम शेषर ने कविता के माध्यम से आशीर्वाद दिया, विचार गोष्ठी का भी आयोजन किया गया| 

   कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए लोक शिक्षण अभियान ट्रस्ट के संस्थापक/अध्यक्ष राम दुलार यादव ने कहा कि भारत आदिकाल से मनीषियों, मन्त्रद्रष्टाओं का देश रहा है यहाँ की संस्कृति सभी सुखी हों, निरोगी रहें, संपन्न बनें कामना की गयी है, लेकिन हजारों साल बाद 21 वीं शदी में भी हम जातिवाद, विषमता, अन्याय, अत्याचार, शोषण और पाखण्ड के शिकार है, इस अवसर पर हम आप सभी का आभार व्यक्त करते हुए कहना चाहते हैं कि यदि हमें अपने देश को उन्नति के शिखर पर ले जाना है तो समाज में झूठ और नफरत फ़ैलाने वालों को हतोत्साहित और उनका बहिष्कार करना पड़ेगा तथा देश में समता, समानता, न्याय, बंधुत्व, प्रेम तथा सहयोग की भावना पैदा करनी होगी| लिंग और नस्ल के आधार पर भेदभाव का विरोध करते हुए नर-नारी समानता के लिए समाज को जागृत करना होगा|

  वीरेन्द्र यादव एडवोकेट जिला महासचिव समाजवादी पार्टी ने कहा कि देश में लोकतंत्र और संविधान पर खतरा पैदा हो गया है, लोकतान्त्रिक मूल्य गिरे हैं, लंदन में सर्वेक्षण के आधार पर मै एक रिपोर्ट के माध्यम से कहना चाहता हूँ कि 2014 में भारत के मामले में लोकतंत्र की गिरावट 28वें पायदान से खिसक कर आज 53वें स्थान पर पहुँच गयी हैं, यह शुभ संकेत नहीं है| लोकतंत्र सहिष्णुता और संविधान की मर्यादा से गतिशील होता है, लेकिन आज लोकतान्त्रिक मूल्यों को ध्वस्त किया जा रहा है, हमें आज इस अवसर पर संकल्प लेना चाहिए कि हम लोकतांत्रिक व्यवस्था को कमजोर करने वाली ताकतों के मंसूबे को पूरा नहीं होने देंगें| जन-जागरण कर उनके नापाक इरादों का पर्दाफाश करेंगें| 

  कार्यक्रम की अध्यक्षा निधि विश्वकर्मा ने विनोद त्रिपाठी के दीर्घायु होने की कामना करते हुए कार्यक्रम में शामिल सभी विद्वानों और नागरिकों का आभार व्यक्त किया| गीत प्रस्तुत कर सभी को भाव विभोर कर दिया|

  इस अवसर पर सी0 पी0 सिंह, वीरेन्द्र सिंह यादव, निधि विश्वकर्मा, ओम प्रकाश अरोड़ा, इंजी धीरेन्द्र यादव, संजू शर्मा, अश्वनी सिंह, प्रान्तिका मजूमदार, तेज बहादुर भारती, अमृतलाल चौरसिया, आशीष, सम्राट सिंह यादव, दयाल शर्मा, लल्ला सिंह, राजीव गर्ग, अंकित राय, सुरेश कुमार भारद्वाज, प्रेम चन्द पटेल, अमर बहादुर, सुभाष यादव, गुड्डू यादव, हरिशंकर यादव, हरिकृष्ण यादव, पप्पू सिंह, दूधनाथ आदि उपस्थित रहे।