बिल्डर के इशारे पर पुलिस प्रशासन जमीन हड़पने की तैयारी: सिकंदर यादव


समीक्षा न्यूज नेटवर्क

गाजियाबाद। किसान संघर्ष समिति बम्हैटा के बैनर तले बम्हैटा, महरौली, नायफल, काजीपुरा,बयाना सहित कई गांवों के किसान 9 सितम्बर 2020 से धरने पर बैठे हैं सोमवार को  हाईटेक सिटी, आदित्य वर्ड सिटी के पदादिकारी, सरकारी अधिकारिओं ने मिलकर किसानों के शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे किसानो और महिलाओं पर लाठीचार्ज कर 151 में बंद कर दिया और प्रदर्शन करने से हाईकोर्ट का बहाना देकर किसानों को हटाया जा रहा है 



 सिकन्दर यादव ने बताया कि किसानो और महिलाओं पर लाठीचार्ज करना कार्यवाही करना सरासर गलत है हाईटेक सिटी, आदित्य वर्ड सिटी के पदादिकारी, सरकारी अधिकारिओं से सांठ-गांठ करके किसानों की जमीनों पर अवैध कब्जा करने का प्रयास कर रहे है, जिसमे की गाजियाबाद विकास प्राधिकारण द्वारा अधिग्रहण से सम्बन्धित मुकदमे हाईकोट में विचाराधीन है, उन्होंने बताया कि सुप्रीमकोर्ट के दिशा निर्देश के अनुसार (धारा 6) पर रिव्यू पिटीशन तथा धारा (5 क) की आपत्ति हाईकोर्ट में विचाराधीन होते हुए जिनपर कोई निर्णय किसानों के खिलाफ नहीं आया है अर्थात अधिग्रहण से सम्बंधित समस्तवाद न्यालय में विचाराधीन होने के बावजूद उपर्युक्त बिल्डर, जीडीए तथा जिला प्रशासनिक अधिकारिओं से मिलकर किसानों की जमीन पर अवैध कब्जा तथा किसानों की खड़ी फसलों को तहस-नहस कर रहे है प्रशासनिक अधिकारी सैकड़ों अर्दसैनिक बलों के जवानों को तथा क्षेत्रीय पुलिस को लेकर किसानों की जमीनों पर कब्जा करना चाहते है।