उत्सव के रूप में मनाया मिशन प्रेरणा


धनसिंह—समीक्षा न्यूज  

गाजियाबाद। मिशन प्रेरणा को सफल बनाने के लिये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा मिशन प्रेरणा को उत्सव के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया । जिसे प्रेरणा ज्ञानोत्सव नाम दिया गया है । जिससे सभी विद्यालयों में पूरे उत्साह और स्वप्रेरणा से विद्यार्थियों का आगमन हो और पुन: उन्हें शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ने का प्रयास किया जाये। इसी परिप्रेक्ष्य में बुधवार को ब्लाक रजापुर के प्रेरणा ज्ञानोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता एसडीएम सदर देवेंद्र पाल सिंह ने की और सुंदरदीप ग्रुप आफ इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर जमील अहमद, प्रिंसिपल इंदु शर्मा व प्रमुख रुप से खंड शिक्षा अधिकारी किरन यादव उपस्थित रहे। कार्यक्रम का शुभारंभ सभी उपस्थित गणमान्य अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलन कर किया गया। तत्पश्चात प्राथमिक विद्यालय झुंडपुरा के नन्हे - मुन्ने छात्रों द्वारा सरस्वती वंदना का शानदार प्रदर्शन किया गया। किरण यादव ने सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए अपने उद्बोधन में मिशन प्रेरणा के दो प्रमुख घटकों से सबका परिचय कराया। कायाकल्प व मानव सम्पदा के बारे सभी जानकारी सबके साथ साझा की। उन्होंने मिशन प्रेरणा को सफल बनाने के लिए सभी अध्यापकों और प्रधान अध्यापकों का उत्साह वर्धन किया। बाला टीम की सभी महिला अध्यापिकाओं द्वारा लिंग संभेदीकरण पर नुक्कड़ नाटक का बहुत सुंदर प्रदर्शन किया गया,जिसकी सभागार में उपस्थित सभी लोगों ने भूरि भूरि प्रशंसा की। सुंदरदीप ग्रुप के डायरेक्टर जमील अहमद ने जिंदगी को शिक्षा से जोड़ते हुए कहा कि हमारी जिंदगी की छोटी सी परिभाषा है, संवर जाए तो जन्नत वरना एक तमाशा है" और जिंदगी तमाशा न बने इसके लिए जरूरी है शिक्षा के महत्व को समझा जाए और उसे मिशन प्रेरणा से जोड़ा जाये। एसआरजी पूनम शर्मा द्वारा मिशन प्रेरणा का सार सभी को बताया एवं एआरपी रेनू चौहान ने कक्षा कक्ष कीपरिवर्तित छवि के बारे में विस्तार से बताया। एआरपी आरती वर्मा ने लिंग विभेदीकरण के कारणों, उसके सामाजिक प्रभाव व निराकरण पर विस्तार से प्रकाश डाला। एआरपी अमित कुमार ने रीड एलोंग एप और उसके उपयोग पर प्रकाश डाला। एआरपी रश्मि दुबे ने शारदा कार्यक्रम और इसके क्षेत्रों के बारे में विस्तार से चर्चा की वहीं एआरपी अंशमान भारद्वाज ने बेसिक शिक्षा में चल रहे समर्थ कार्यक्रम पर प्रकाश डाला। इसके उपरांत मुख्य अतिथि एसडीएम सदर ने जनसभा को संबोधित करते हुए शिक्षा की आवश्यकता पर प्रकाश डाला और बताया कि स्वप्रेरणा ही मिशन योजना की सफलता का मेल मंत्र है। एसडीएम द्वारा ब्लॉक स्तर पर चयनित उन सभी छात्र छात्राओं को सम्मानित किया गया जिन्होंने आनलाइन और आफलाइन शिक्षा में ब्लॉक स्तर पर अपनी कक्षाओं में बेहतरीन प्रदर्शन किया। इसके साथ ही ब्लाक के उन अध्यापकों को खंड शिक्षा अधिकारी द्वारा सम्मान प्रतीक देकर सम्मानित किया गया जिन्होंने अपने विद्यालय में नवाचार कर शिक्षा को नये आयाम देने का प्रयास किया ,कार्यक्रम के अंत में खंड शिक्षा अधिकारी द्वारा मुख्य अतिथि को सम्मान प्रतीक भेंटकर आभार व्यक्त किया गया व कार्यक्रम मे आए सभी अतिथियों रटउ सदस्यों अभिभावको व शिक्षकों का आभार व्यक्त किया इस कार्यक्रम की सफल व्यवस्था प्रीति शर्मा व देशदीप शिक्षक संकुल द्वारा की गयी। कार्यक्रम का सफल संचालन पूनम शर्मा द्वारा किया गया। दोपहर के भोजन के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया।