देश की प्रसिद्ध शास्त्रीय नत्यांगनाओं की प्रस्तुति देख दर्शक हुए मुग्ध




धनसिंह—समीक्षा न्यूज   

"उ.प्र.संगीत नाटक अकादमी" के आयोजन में 70 से अधिक देशभर की महिलाओं को किया सम्मानित

 


गाजियाबाद : विश्व महिला दिवस के अवसर  सायं एल्ट सैंटर के सभागार में आयोजित रंगारंग कार्यक्रम में "उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी लखनऊ" और "संस्कार भारती गाज़ियाबाद" के तत्वावधान में "वी एन भातखंडे संगीत महाविद्यालय गाजियाबाद" द्वारा "शास्त्रीय संगीत और मातृ शक्ति सम्मान समारोह "का अयोजन किया गया जिसमें  देश भर की 70 से अधिक महिला कलाकारों को सम्मानित किया गया। लगभग पांच घंटे चले इस कार्यक्रम में देश की प्रसिद्ध शास्त्रीय नृत्यांगनाओं ने अपनी प्रस्तुती से बडी संख्या में उपस्थित आमंत्रित दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

कार्यक्रम के आरंभ में महाविद्यालय की छात्राओं ने सरस्वती वंदना एवम संस्कार भारती ध्येय गीत प्रस्तुत किया। चैती शर्मा ने रागमाला का गायन किया। लखनऊ की 13 वर्षीय बाल कलाकार श्रेया वर्मा ने कथक नृत्य और हरियाणा की 11 वर्षीय तनिष्का सैनी ने राग यमन की प्रस्तुति द्वारा दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। सुविख्यात शास्त्रीय गायिका पद्मश्री विदुषी सुमित्रा गुहा  ने शास्त्रीय गायन प्रस्तुत किया। प्रसिद्ध नृत्यांगना विधा लाल ने कथक नृत्य प्रस्तुत किया।

महाविद्यालय की छात्रा सुनीता राजौरा ने साथियों सहित तराना और पंडित तपन रॉय की शिष्यों ने धमार ताल में कथक की प्रस्तुति दी। मुख्य अतिथि प्रसिद्ध नृत्यांगना पद्म भूषण डॉ उमा शर्मा और विशिष्ट अतिथि महापौर श्रीमती आशा शर्मा  ने कार्यक्रम की प्रशंसा करते हुए सभी को शुभकामनाए दी। इस अवसर पर गुरूजी पंडित हरिदत्त शर्मा  के जीवन पर आधारित पुस्तक "पण्डित हरिदत्त शर्मा व्यक्तित्व एवम कृतित्व" का विमोचन भी किया गया। महाविद्यालय की शिक्षिका ज्योति शर्मा ने मंच संचालन किया। सम्मान पाने वाली कलाकारों में प्रसिद्ध नृत्यांगना नलिनी कमलिनी , नंदिनी सिंह, शिक्षाविद् डॉ माला कपूर , अलका अग्रवाल, रागिनी प्रताप, रेखा सेठ, निवेदिता शर्मा, योग शिक्षिका अर्चना शर्मा, कवयित्री डॉ रमा सिंह सहित अनेक प्रसिद्ध कलाकार थीं। कार्यक्रम के अंत में वी एन भातखंडे संगीत महाविद्यालय गाजियाबाद के अध्यक्ष गुरूजी पंडित हरिदत्त शर्मा  ने सभी का आभार व्यक्त किया। गाज़ियाबाद में आयोजित  यह एक अद्भुत कार्यक्रम था।