मुगल बादशाह बहादुरशाह जफर की पड़पोत्र वधु पहुॅची बागपत


धनसिंह—समीक्षा न्यूज  

- समाजसेवी हाजी निजात खान सहित अनेकों गणमान्य लोगों से पीस मिशन के बारे में की चर्चा


- डाॅ रमेश कुमार पासी और डाॅ संध्या अग्रवाल ने लोगों से की मिल-जुलकर साथ रहने की अपील


विवेक जैन


बागपत। हिंदुस्तान के 17 वें और आखिरी मुगल बादशाह मिर्जा अबू जफर सिराजुद्दीन मोहम्मद बहादुरशाह जफर की पड़पोत्र वधु बेगम शमीना खान शांति का संदेश लेकर बागपत पहुॅची। उन्होने प्रमुख समाजसेवी हाजी निजातखान के निवास पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लिया और अपने पीस मिशन के बारे में जनपद के गणमान्य लोगों से विस्तृत चर्चा की। 

उन्होंने बताया कि वे दो एनजीओ एकता सुधार समिति और नशा मुक्ति जागृति अभियान से जुड़ी हुई है और लोगों को बुरे कार्यों से दूर रहने और अच्छे कार्यों को करने के लिये जागरूक कर रही है। कार्यक्रम में दिल्ली से आये डाॅ रमेश कुमार पासी ने मिशन की सफलता के लिये लोगों से इनपुट प्राप्त किये और उनके विचारों को जाना। डाॅ रमेश ने बताया कि अगर लोग उनके पीस मिशन से जुड़ते है और विचारधारा को अपनाते है तो ना सिर्फ देश बल्कि विश्वभर में शांति की स्थापना हो सकेगी। पीस मिशन की टीम सदस्य डाॅ संध्या अग्रवाल ने बताया कि उनके पीस मिशन का एक ही उद्देश्य है हर धर्म-सम्प्रदाय के लोग आपस में मिल-जुलकर शांति से रहे, दंगे ना हो, गरीबों को प्रर्याप्त सहायता और ऐसी व्यवस्था उपलब्ध हो जिससे वे गरीब ना रहे, सभी को रोजगार मिले। पीस टीम के कवि इकबाल ने लोगों से समाज में भ्रष्टाचार, अत्याचार, अपराध, लूट-खसोट आदि को रोकने के लिये पीस मिशन से जुड़ने का आहवान किया। हाजी निजात खान और उपस्थित गणमान्य लोगों ने पीस मिशन को तन-मन-धन से सहयोग करने का आश्वासन दिया और मिशन के उद्देश्यों की भूरी-भूरी प्रशंसा की।