आम आदमी पार्टी ने किया जिला मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन


धनसिंह—समीक्षा न्यूज   

गाजियाबाद। दिल्ली में आम आदमी पार्टी सरकार को अधिकार विहीन करने के उद्देश्य से केंद्र सरकार द्वारा लाये गए बिल एनसीटी एक्ट संशोधन के विरोध में आम आदमी पार्टी की जिला इकाई के जिलाध्यक्ष चेतन त्यागी के नेतृत्व में जमकर विरोध प्रदर्शन किया। आप कार्यकर्ता जिला मुख्यलय के मुख्य द्वार पर बाहर एकत्र हुए तथा वही से नारेबाजी करते हुए ज्ञापन देने के लिए अंदर परिसर में गये। प्रदेश उपाध्यक्ष छवि यादव ने कहा भाजपा की केंद्र सरकार जानबूझकर अपनी पराजय से हताश होते हुए संसद में एक बेहद खतरनाक बिल लाकर चुनी हुई दिल्ली सरकार को कमजोर करने की साजिश कर रही है। इस बिल के पास होने के बाद एलजी के पास सभी शक्तियां होंगी और दिल्ली सरकार के सभी प्रस्तावों को लागू करने का फैसला उनकी मेहरबानी पर होगा। जिला सचिव सुजाता शर्मा ने कहा कि बीजेपी को दिल्ली विधानसभा में मिली करारी हार व उसके उपरांत एमसीडी उपचुनाव में जीरो सीट मिलने और दिल्ली से लेकर के गुजरात तक जिस तरह से आम आदमी पार्टी की लोकप्रियता बढ़ी है और जन समर्थन बढ़ रहा है, उससे भाजपा पूरी तरह बौखला गयी है। भारतीय जनता पार्टी एक बार पुन: दिल्ली में षणयंत्र कर गोपनीय दरवाजे से संविधान पीठ के फैसले को पलटते हुए दिल्ली की चुनी हुई सरकार को कमजोर कर रही है। जिला मीडिया प्रभारी अधिवक्ता मनोज त्यागी ने कहा कि केंद्र सरकार के इस कदम से लगता है कि दिल्ली में विकास कार्य बाधित करने की राजनीतिक मंशा नजर आ रही है। भारी बहुमत से चुनी सरकार को अधिकार विहीन करने वाले एनसीटी एक्ट संशोधन 2021 बिल आम जनमानस के लोतांत्रिक अधिकारों पर कुठाराघात है। जिलाध्यक्ष चेतन त्यागी ने कहा कि पिछली बार जब दिल्ली में अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी थी और अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली सरकार ने काम करना शुरू किया था, उस समय गृह मंत्रालय की तरफ से एक आदेश जारी किया गया। दिल्ली सरकार के काम की रफ्तार को ठप करने के लिए सारी शक्तियां एलजी को दे दी गई। दिल्ली सरकार की सभी फाइलें एलजी के जरिए केंद्र सरकार ने एलजी हाउस में मंगा कर स्टोर करा लिया। शुंगलू कमिटी बनाई गई। लंबे समय तक फाइलों पर बैठकर काम को ठप किया गया। चुनाव प्रभारी सचिन तेवतिया ने कहा कि आपको विदित रहे कि दिल्ली के अंदर मोहल्ला क्लीनिक बनाने के प्रस्ताव पर कई साल तक देर किया गया, सीसीटीवी कैमरा की फाइल को लेकर एलजी हाउस बैठ गया। मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, सत्येंद्र जैन और गोपाल राय, 4 लोग उस फाइल को मंजूरी दिलाने के लिए एलजी हाउस में दिनरात बैठे रहे। आज एक बार फिर वही परिस्थिति दिल्ली के अंदर पैदा करने का षड्यंत्र शुरू हुआ है। जिसकी शुरूआत कल संसद में बिल प्रस्तुत करके किया गया है। दिल्ली के लोग इस बात को लेकर के काफी चिंतित हैं कि आखिर यह क्यों किया जा रहा है । अभी दिल्ली सरकार ने एक साल के करोना काल के बाद दिल्ली के अंदर देशभक्ति बजट प्रस्तुत किया है। कई सारी नई कार्य योजनाएं बनाई गई हैं, जिनको दिल्ली के अंदर लागू करना है। इस अवसर पर चुनाव प्रभारी सचिन तेवतिया,जिला संघटन संयोजक अभिषेक सीकरी, भावना बिष्ट, सहिबाबद विधानसभा अध्यक्ष विभा सिंह,गुलरेज खान, एस सी एस टी प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष शैलेश कुमार, धीरेन्द्र प्रताप सिंह, विजय शर्मा, एसपी सिसोदिया, सजंय सिंह, पंकज झा, कल्पना वर्मा, दिलशाद खान, वसीम भारती, शिवबाबू पाठक, प्रियंका गगन, नत्थू प्रधान, मोहित कुमार, जतिन शर्मा, मोहित अग्रवाल, अजित शर्मा, रितिक शर्मा, रजनीश तेवतिया, वसी अहमद, ओम अग्रवाल, विनोद कुमार

बिन्नी, सुंदर राणा आदि उपस्थित