पाँच जनपदों के 30 प्रतिभागी को मास्टर ट्रेनर के लिए दिया प्रशिक्षण

 





धनसिंह—समीक्षा न्यूज   

गाजियाबाद। क्षेत्रीय ग्राम्य विकास संस्थान गाजियाबाद में मद्य निषेध विभाग के तत्वावधान में ,नेशनल एक्शन प्लान फॉर ड्रग डिमांड रिडेक्स्न (NAPDDR)योजना के अंतगर्त तीन दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण का समापन हुआ। प्रशिक्षण मे पाँच जनपद- गाजियाबाद, हापुड़,मेरठ,गौतमबुँधनगर,बुलंदशहर, के 30 प्रतिभागी को मास्टर ट्रेनर के लिए  प्रशिक्षण दिया गया। संस्थान के प्रिंसिपल सौरभ राजपूत जी ने बताया कि मानव जाति के लिए ड्रग्स, एव अन्य किसी भी मादक पदार्थ का सेवन बहुत घातक रूप ले सकता हैं, वाइस प्रिंसिपल श्रीमति गुंजन जी ने सभी को शुभकामनाए दी।अनुदेश  हरी किशन गुप्ता ने बताया कि कितने ही लोगो की मृत्यु ड्रग्स के निरंतर  सेवन करने से हो रही हैं,इसी को ध्यान मे रखते हुए, हम मास्टर ट्रेनर बनाकर समाज मे ड्रग्स के आदी हो चुके लोगो को एक सही दिशा देना चाहते हैं। वहीं आज कार्यक्रम के समापन मे नेहरू युवा केन्द्र गाजियाबाद के वरिष्ठ एव अनुभवी लेखाकार मुकुंद वल्लभ शर्मा भी उपस्तिथि हुए, सभी प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र देते हुए,उन्होने क़हा कि आप सभी की जिम्मेदारी एक मास्टर ट्रेनर के रूप मे अब पहले से और अधिक हो गयी है, हम सभी को मिलकर समाज मे फैली इस बुराई हो जड़ से खत्म करना हैं। प्रशिक्षण में के बी सिंह ने मैडीटेशन का प्रशिक्षण दिया.

इस अवसर पर क्षेत्रीय मद्य निषेध अधिकारी  आर एल राजवंशी ने कहा कि प्रशिक्षण बहुत ही प्रभावी तरीके से दिया गया है और मुझे विश्वास है कि सभी इसका क्रियान्वयन पूरी निष्ठा के साथ करेंगे.

प्रतिभाग करने वालो मे नेहरू युवा केन्द्र के राष्ट्रीय युवा स्वयसेवक विकास,, दुर्गेश, मनू रानी, सुप्रिया चौधरी, रामचंद्र पाल, गाजियाबाद, क्षमा शर्मा, लवीश कुमार, सौरभ, हापड,  प्रियंका, निक्की, बुलन्दशहर, प्रिंस, जैनब, वर्षा शर्मा, मेरठ, वीरेन्द्र गौतमबुद्धनगर, आदि ने प्रशिक्षण के सम्बन्ध में अपने विचार प्रस्तुत किये।