उत्तरप्रदेश सरकार में गिरती कानून व्यवस्था सहित अन्य मुद्दों के खिलाफ पं मनमोहन झा गामा के नेतृत्व में निकाली पद यात्रा


धनसिंह—समीक्षा न्यूज  

गाजियाबाद। समाजवादी पार्टी गाजियाबाद जिला उपाध्यक्ष एवं प्रभारी साहिबाबाद पं मनमोहन झा गामा के नेतृत्व में उत्तरप्रदेश सरकार में गिरती कानून व्यवस्था, बढ़ती महंगाई, महिलाओं के साथ बढ़ते अपराध, एवं कृषि बिल कानून के खिलाफ कौशम्बी स्थित डॉ बाबा भीमराव आंबेकर जी पार्क से पद यात्रा निकाला गया। पद यात्रा कार्यक्रम का संचालन जब्बार मलिक,एवं रविंद्र प्रताप यादव ने किया।  पद यात्रा के दौरान सरकार विरोधी नारे बढ़ती महंगाई पर रोक लगाओ, बहुत हुआ बहन बेटी पर अत्याचार नही चाहिए भाजपा सरकार,कृषि बिल कानून वापस लो के नारे लगाते हुए गाजीपुर बॉर्डर किसान आंदोलन में पहुँच किसानों को समर्थन दिया।

समर्थन के दौरान पं मनमोहन झा गामा ने कहा कि जबसे केंद्र व प्रदेश में भाजपा की सरकार आई है तब से अबतक सिर्फ जनविरोधी नीतियाँ बनाई गई,इस सरकार ने हर वर्ग को ठागा है,सरकार रोजगार देने में असफल रही केंद्र सरकार का प्रत्येक निर्णय आमजंन विरोधी रहा चाहे नोट बंदी हो,जीएसटी हो,काला धन लाने की बात हो,भाजपा शासित राज्यो में व्यपारी,बेटी,माँ, युवा अपनो को असुरक्षित महसूस कर रहा है,मजदूर विरोधी कानून बना 45 करोड़ मजदूरो के अधिकारों का हनन कर पूंजीपति को लाभ पहुचाने का कार्य किया गया सब चुप रहे,

अब तो हद ही हो गया की देश के आम जन को दो वक्त की रोटी के लिए अपने उधोगपति मित्रो के अधीन करने के लिए कृषि बिल कानून ले आए,जिसका विरोध देश के अन्नदाताओं एवं किसान नेताओ ने किया एवं आज 104 दिन आंदोलन होने सैकड़ो अन्नदाता की शहादत के बाबजूद सरकार गूंगी बहरी बनी हुई है एवं अपने प्रचार तंत्र पुलिस ईडी सीबीआई के द्वारा बदनाम करने प्रताड़ित कर आंदोलन को समाप्त करना चाहती है जो लोकतंत्र के लिए ठीक नही है ,जबकि किसान उचित मांग देश हित में न्यूनतम समर्थन मूल्य की सम्पूर्ण भारत के किसानों को मिले की मांग,जमाखोरी पर दंडात्मक कानूनी करवाई की मांग,एवं  कॉन्ट्रेक्ट फार्मिंग बिल रद्द करने की मांग देश के आमजन के हित मे है अतः आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से आग्रह पूर्वक मांग करते है कि किसानों की मांग देश हित मे मान ले एवं अन्नदाता खुशी खुशी अपने खेतों में जा अपने देश के लिए अन्न उपजाए।

पद यात्रा में मुख्यरूप से जब्बार मलिक,सत्तार मलिक,अजय कुमार,अरविंद कठेरिया,इसाक सैफ़ी,ठाकुर सचिन चौहान,रवि यादव,मोनू सैफ़ी,प्रमोद यादव,अंकित यादव,विनोद यादव,जय प्रकाश यादव,अयूब,नबाब खान,गुलमोहमद मंसूरी,सुनील यादव,आसिफ चौधरी आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे