एमएमएच कॉलेज के साहित्यिक सांस्कृतिक परिषद द्वारा महाविद्यालय स्तरीय स्वरचित कविता प्रतियोगिता आयोजित



धनसिंह—समीक्षा न्यूज   

ग़ाज़ियाबाद। मॉडल टाउन स्थित एम एम एच कॉलेज ग़ाज़ियाबाद की साहित्यिक सांस्कृतिक परिषद द्वारा महाविद्यालय स्तरीय स्वरचित कविता प्रतियोगिता का आयोजन महाविद्यालय प्रांगण स्थित गुणवत्ता सभागार में किया गया। प्रतियोगिता का शुभारंभ संयोजिका एवं निर्णायक मंडल द्वारा मां सरस्वती के सम्मुख पुष्पर्पित और दीप प्रज्वलन कर किया गया। स्वरचित कविता प्रतियोगिता की समन्वयक डॉ सीता सागर ने प्रतिभाग कर रहे सभी प्रतिभागियों को बधाई देते हुए एवं प्रतियोगिता के नियमो से अवगत कराते हुए कहा कि  प्रतियोगिता में केवल वही कविताएं सम्मिलित की जाएगी जो आपने स्वयं लिखी हुई, अगर आपकी कविता इंटरनेट या किसी ओर माध्यम पर पहले ही उपस्थित है तो आपको तुरंत प्रतियोगिता से वंचित कर दिया जायेगा। प्रतियोगिता में अट्ठाइस प्रतिभागियों ने प्रतिभाग करते हुए अपनी स्वरचित कविता प्रस्तुत की। प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में डा. रेनू शर्मा,डा.सुभाषिनी शर्मा,डा.क्रान्ति बोध ने प्रतिभागियों की भाषा, प्रस्तुतिकरण को देखते हुए पूर्ण निष्पक्षता से भूपेंद्र सिंह ,ज्योति यादव, अमानी मलिक को क्रमशः प्रथम,द्वितीय, तृतीय स्थान एवं धर्मवीर सिंह, नकुल ,आतिफ़ा को सान्त्वना पुरस्कार प्राप्त करने पर बधाई दी। डा.सुभाषिनी शर्मा और डा. रेनू शर्मा ने कविता सुनाकर कविता पाठ की बारीकियों पर चर्चा की तथा डॉ क्रान्ति बोध ने कविता क्या है,कविता कैसे लिखी जाती है पर चर्चा करते हुए यह कहा कि कविता केवल तुकबंदी नहीं है बल्कि यह प्रतिभा और साधना भी है।मंच का संचालन धर्मवीर सिंह और प्रियंका ने किया।प्रतियोगिता में महाविद्यालय के प्राध्यापक डा.जलज त्रिपाठी, डा.शैलेन्द्र गंगवार, डा.परितोष मणि त्रिपाठी,डा.पूनम गुप्ता,डा.अनुराधा सिंह,डॉ अंजलि दत्त, डा.रोजी मिश्रा, डा.मधु श्रीवास्तव, डा. सुनीता सिंह डा.राखी द्विवेदी, डा.आभा दुबे, डा.ईशा शर्मा, डा.कल्पना दुबे ने सभी प्रतिभागियों को अपना शुभाशीष और विजेताओं को बधाई दी।