पार्षद संजीव त्यागी ने वार्ड—50 का कराया चहुंमुखी विकास, बनाई अलग पहचान

 


धनसिंह—समीक्षा न्यूज   

गाजियाबाद। वार्ड नंबर-50 से पार्षद संजीव त्यागी ने चुनाव जीतने के बाद से क्षेत्र में एक अलग ही पहचान बनाई है। जहा चुनाव जीतने के बाद लोग पार्षद को ढूंढते नजर आते है, वहीं संजीव त्यागी ने राजनगर एक्टेंशन की मेन रोड़ पर आॅफिस बनाया हुआ, जहा जनता कभी भी अपनी समस्या लेकर पहुंच सकती है। वह जनता की समस्या सुनते ही नहीं, बल्कि उस समस्या का हल भी निकालने की कोशिश करते है। अगर क्षेत्र में विकास कार्यो की बात करे तो जितनी भी क्षेत्र में कच्ची कॉलोनिया थी, जिनमें रास्ते और नाली खड़ंजे तक नहीं उनकी भी पार्षद ने प्रयासों से काया पलट कर रख दी है। पार्षद संजीव त्यागी ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्य करने के तरीके से उन्हें बहुत प्रेरणा मिलती है। भाजपा का नारा है सबका साथ सबका विकास। सरकार की नीति है कि जनहित के कार्य हर एक आदमी तक पहुंचने चाहिए। इसको लेकर ही लगातार प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि वोटर आईड़ी से लेकर, आधार कार्य कार्ड, राशन कार्ड बनावाने की सुविधाए उनके आॅफिस पर ही उपल्बध कराई जाती है। संजीव त्यागी ने बताया कि यहा बहुत सी कॉलोनियां ऐसी थी, जहा लोग मूलभूत सुविधाओं के लिए परेशान थे। नाली खड़ंजे जैसी सुविधाए न होने के कारण वहां पानी गलियों में बहता रहता था। जिसके कारण गंदगी बनी रहती थी। पार्षद बनने के बाद उन्होंने सबसे पहले लिस्ट बनाई की उनके क्षेत्र की किन कॉलोनियों में मूलभूल सुविधाए नहीं उसके बाद उन्होंने सबसे पहले उनही कॉलोनियों की काया बदलनी शुरू की । शांति नगर की 25-30 गलियों को पक्का कराया साथ ही नालियों का निर्माण कराया। इसके अलावा चमन कॉलोनी का सम्पूर्ण कार्य, सरस्वती विहार फेस वन, प्रेम एंक्लेव, लक्ष्मी कॉलोनी, व वीवीआई के सामने जो रास्ता पिछले तीस सालों से कच्चा था उसे भी पक्का कराया गया है। पार्षद ने बताया कि उनकी सबसे पहली प्राथमिकता में शामिल था कि क्षेत्र के आम विद्याथिर्यो को अच्छी शिक्षा मिल सके साथ ही स्कूल में अच्छा माहौल हो। इसको लेकर ही वार्ड के प्राथमिक विद्यालयों बेहतर बनाने को लेकर काम किया गया। आज अगर कोई इन विद्यालयों को देखेगा तो वे कही से भी किसी प्राइवेट विद्यालयों से कम नहीं है। इतना हीं नहीं बच्चों के लिए विद्यालयों में सभी खेलों की भी अच्छी व्यवस्था की गयी है। जिससे बच्चों का मानसिक विकास के साथ-साथ शारीरिक विकास भी होगा।