मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम पर गोष्टी सम्पन्न

 



धनसिंह-समीक्षा न्यूज 

गाजियाबाद। केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के तत्वावधान में "श्री राम नवमी पर्व" ऑनलाइन जूम पर सोल्लास मनाया गया और श्रीराम के जीवन दर्शन पर चर्चा की गई। यह परिषद का कोरोना काल में 207 वां वेबिनार था। वैदिक विद्वान आर्य रविदेव गुप्ता ने कहा कि श्री राम ने राक्षसों, आंतकवादियों का वध करके शांति की स्थापना की,आज भी अनेको देश द्रोह के स्वर सुनाई देते है जिसका प्रतिउत्तर मोदी दे रहे हैं।उन्होंने एक मजबूत आर्यावर्त की स्थापना की तभी आज भी लोग रामराज्य की कल्पना करते हैं। वह एक आदर्श पुत्र,आदर्श पति,आदर्श भाई, आदर्श मित्र व आदर्श राजा भी रहे उन्होंने अपने जीवन में आदर्श स्थापित किये वह सदियों तक समाज का मार्ग प्रशस्त करते रहेंगे।  केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि हजारों वर्ष बाद भी उनको याद करना उनके गुणों के कारण ही है, व्यक्ति की यश कीर्ति उसके कार्यों के कारण ही जीवित रहती है।मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम ने जीवन मे कुछ मर्यादाओं को तय किया व उनका पालन किया तभी वह समाज मे आदर्श बन पाए। आर्य नेत्री डॉ. सुषमा आर्या ने उनके 16 गुणों की चर्चा करते हुए उन्हें आत्मसात करने की प्रेरणा दी। उत्तर प्रदेश के महामंत्री प्रवीण आर्य ने श्रीराम जन जन के राम है,उनका जीवन चरित सर्वोत्तम है  अध्यक्ष सोमरत्न आर्य (अजमेर) ने भी श्री राम नवमी की बधाई दी। गायिका ईश्वर देवी, कुसुम भंडारी, नरेश खन्ना, संतोष डावर, प्रवीना ठक्कर, रवीन्द्र गुप्ता, जनक अरोड़ा, वीरेन्द्र आहूजा आदि ने मधुर गीत सुनाये। आचार्य महेंद्र भाई, आनन्द प्रकाश आर्य, राजेश मेंहदीरत्ता, सौरभ गुप्ता, अमरनाथ बत्रा, हरीओम शास्त्री, राजकुमार भंडारी, डॉ विपिन खेड़ा, डॉ रचना चावला आदि उपस्थित थे।