गाजियाबाद में गुरुद्वारे ने शुरू किया ऑक्सीजन लंगर

 




धनसिंह-समीक्षा न्यूज 

गाजियाबाद। जिले में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए इंदिरापुरम के गुरुद्वारे ने अनूठी पहल शुरू की है। गुरुद्वारा संचालकों ने आॅक्सीजन लंगर शुरू किया है। लंगर में कोरोना मरीजों को आॅन रोड आॅक्सीजन दी जा रही है। लोग मरीज को ले जाकर तुरंत आक्सीजन दिलवा रहे हैं। यह सेवा गुरुवार रात से शुरू की गई है और अब तक करीब 35 लोगों को आॅक्सीजन दी जा चुकी है। संचालकों का कहना है कि प्रशासन इसमें मदद करे और आॅक्सीजन की सप्लाई लगातार दिलवाना सुनिश्चित करे। इंदिरापुरम के गुरुद्वारे में आॅक्सीजन लंगर का संचालन करने वाले खालसा हेल्प इंटरनेशनल के फाउंडर गुरुप्रीत सिंह ने बताया कि शहर में आॅक्सीजन न मिलने की वजह से लगातार हो रही मौत को देखते हुए आॅक्सीजन लंगर चलाने का निर्णय लिया गया है। उनकी संस्था ने करीब 40 आॅक्सीजन सिलेंडर और आॅक्सीजन देने में इस्तेमाल होने वाले उपकरण जुटाए हैं। इसके साथ ही बगैर देर किए रात में ही आॅक्सीजन लंगर चालू कर दिया गया। रात से लेकर अब तक करीब 35 लोग आॅक्सीजन ले चुके हैं। गुरुप्रीत ने बताया कि कोरोना मरीज का आॅक्सीजन का लेबल अचानक गिरना शुरू होता है, परिजनों को अस्पताल में बेड या आॅक्सीजन सिलेंडर का इंतजाम करने में समय लगता है। ऐसे में लोग मरीज को लेकर यहां आते हैं, जिनमें से कुछ लोग अस्पतालों में बेड की व्यवस्था होने के बाद मरीज को ले जा रहे हैं और कुछ लोग यहीं रुक कर आॅक्सीजन दिलवा रहे हैं। यहां पर गाड़ियों से आने वाले मरीजों को वाहन के अंदर ही आॅक्सीजन दी जा रही है और जो आटो या दोपहिया वाहन से आते हैं, उन्हें गुरुद्वारे में रोक कर आॅक्सीजन दी जा रही है। लंगर में किसी तरह की कागजी औपचारिकता की आवश्यकता नहीं है। इस वजह से मरीज को गुरुद्वारे पहुंचते ही आॅक्सीजन मिल रही है। लोगों की जान बचाने को शुरू किए गए इस लंगर के लिए गुरुप्रीत सिंह ने प्रशासन से अपील की है कि वे आॅक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित कराए, जिससे मरीजों को चौबीसों घंटे आॅक्सीजन आॅन रोड उपलब्ध कराई जा सके और उनकी जान बचाई जा सके। मरीजों को प्राथमिकता उपचार के लिए डॉक्टर भी मौजूद है।