महानगर कांग्रेस ने जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल को भेजा ज्ञापन


धनसिंह-समीक्षा न्यूज  

गाजियाबाद। कोरोना संक्रमण बढ़ने के उपरान्त में अस्पतालों के चक्कर काट रही जनता की परेशानियों को लेकर प्रशासन व शासन द्वारा जनहित में तत्काल प्रभाव से निर्णय लेने की मांग को लेकर महानगर कांग्रेस अध्यक्ष मनोज कौशिक के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचा। जहां उन्होंने उत्तर प्रदेश के राज्यपाल के नाम जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा।

मनोज कौशिक ने कहा कि कोरोना संक्रमण के दौरान सरकार को तुरंत जनहित में फैसले लेकर जनता को राहत देने का काम करना चाहिए। जबकि कोरोना संकट के चलते गाजियाबाद जनपद में लोग अस्पतालों के चक्कर काट रहे हैं जहां पर ना आक्सीजन बैड है ना वैक्सिन की व्यवस्था न वेंटिलेटर। 

उन्होंने कहा इमरजेंसी एम्बूलेंस का टोल फ्री नंबर मोहया कराया जायें। कोरोना काल में चालान रोके जायें, शमशान घाट पर पीड़ित के लिए इलेक्ट्रिक शवदहाग्रह और लगायें जायें। अस्थायी तौर पर 5 जोनों में 500-500 बैडो की आक्सिजन सहित व्यवस्था अस्थायी तौर पर तुरंत करायी जाये। डाक्टरों व वैटिलेटर की सुविधा उपलब्ध करायी जायें। जिन परिवारों को क्वारंटीन किया जा रहा है उन्हें भोजन की व्यवस्था करायी जाये। हॉस्पिटल में जहाँ पेसेंट को रखा गया है वहाँ पर सी.सी.टी.वी कैमरे लगाकर उसका प्रसारण मुख्य द्वार पर किया जायें व उसकी रिकॉडिंग सेव रखी जायें। मरीज को परिवार से बात करने के लिए संचार सुविधा मौहया करायी जायें जिससे की जनता का विश्वास हॉस्पिटल व प्रशासन पर बन सकें। 

हॉस्पिटल के मुख्य द्वार पर आक्सिजन बैंड व वेंटिलेटर बैडो की संख्या सरकारी रूप से मुख्य द्वार पर दर्शाई जायें। शाम 5 बजे के बाद लॉकडाउन के समय गरीब प्रवासी, रेलवे स्टेशन व बस अड्डे व जहाँ पर प्रवासी मजदूर रुके हुए है उनको भोजन पानी की उचित व्यवस्था करायी जायें। शहर के सभी चैराहों पर जहाँ पर पुलिस द्वारा चेकिंग की जा रही है वहाँ पर लोगो का चलाना ना करके प्रशासन द्वारा कोरोना के प्रति जागरूक करते हुए मास्क वितरण की उचित व्यवस्था की जायें। 

नगर निगम द्वारा गाजियाबाद जिले में लॉकडाउन के समय व अन्य उचित समयों पर शहर में सैनिटाइजेसन तत्काल प्रभाव से किया जायें। शहर में गरीब व मलीन बस्तियों में टेस्टिंग व वैक्सिन की व्यवस्था मोहया करायी जायें। शहर में हो रही दवाईयों की काला बाजारी व हॉस्पिटलों द्वारा मनमानें पैसे वसूले जा रहे है उनके रेट सरकारी तौर से डिक्लेयर करे जायें और अगर कोई हॉस्पिटल मनमाने तौर पर पैसे वसूल रहा है तो उसके साथ उचित कानूनी कार्यवाही की जायें। इस मौके पर जाकिर अली सैफी पार्षद, बलराज सिंह चावड़ा, एडवोकेट अशोक कुमार, रवि चैधरी, आशुतोष गुप्ता मौजूद रहे।