व्यापार का घाटा तो पूरा हो जाएगा, मगर जान का घाटा पूरा नहीं हो सकता: संजय बिंदल


धनसिंह—समीक्षा न्यूज 

गाजियाबाद। जदयू के महानगर अध्यक्ष एवं व्यापारी नेता संजय बिंदल का मानना है कि जैसे हालात चल रहे हैं, उसमें लॉकडाउन के अलावा कोई विकल्प नहीं है। लॉकडाउन लगाकर ही कोरोना पर अंकुश लगाया जा सकता है। संजय बिंदल ने कहा कि आज देश में कोरोना से यह हाल है कि कोरोना मरीजों का एक दिन का आंकडा पौने तीन लाख तक पहुंच गया है। हर छह में से एक को कोरोना निकल रहा है। यह स्थिति चिंताजनक ही नहीं बहुत अधिक खतरनाक है। ऐसे में प्रदेश सरकार को लॉकडाउन लगाना चाहिए क्योंकि बिना लॉकडाउन के कोरोना पर अंकुश लगा पाना संभव नहीं है। वैसे भी जान है तो जहान है। जदयू के महानगर अध्यक्ष एवं व्यापारी नेता संजय बिंदल ने कहा कि जिंदा रहेंगे तो व्यापार बाद में भी कर लेंगे लेकिन जब जिंदा ही नहीं रहेंगे तो व्यापार ही कैसे करेंगे। व्यापार का घाटा पूरा किया जा सकता है, मगर परिवार का घाटा कभी पूरा नहीं किया जा सकता है। व्यापारियों को भी यहबात समझनी होगी कि उनके परिवार के प्रत्येक सदस्य के लिए व्यापार नहीं बल्कि उनकी जान ही कीमती है। उन्हें व्यापार से भी पहले आपकी जरूरत है। अत: यदि कोरोना पर अंकुश के लिए कुछ दिन लॉकडाउन लगाने की नौबत आती है तो उसका विरोध ना करें, बल्कि उसका समर्थन करें जिससे कोरोना पर विजय प्राप्त की जा सके।