प्राणायाम से श्वसनतंत्र को मजबूत बनाये -योगगुरू ईश आर्य

 





धनसिंह—समीक्षा न्यूज 

गाजियाबाद। केंद्रीय आर्य युवक परिषद द्वारा ऑनलाइन आयोजित 211वें वेबिनार में सम्बोधित करते हुए पतंजलि योग समिति हरियाणा के प्रभारी ईश आर्य ने कहा कि करोना महामारी के दौरान श्वसन तंत्र को मजबूत करने के लिए कुछ श्वसन क्रियाएं दैनिक दिनचर्या का अंग बनानी चाहिए। अगर हमारा श्वसन तंत्र मजबूत है तो कोई वायरस बैक्टीरिया इतनी आसानी से हमारे ऊपर हमला नहीं कर सकता अपने फेफड़ों को मजबूत करने के लिए कुछ प्राणायाम को अपनी जिन्दगी का हिस्सा बनाने के लिए प्रेरित किया प्रात: दैनिक दिनचर्या से निवृत हो प्रतिदिन एक घण्टा  प्राणायाम व शारीरिक व्यायाम करें लंग्स मजबूती के लिए भस्त्रिका प्राणायाम लम्बे गहरे सांस नासिका से लेना और धीरे धीरे छोड़ना,कपाल भांति क्रिया प्राणायाम, बाहय् प्राणायाम, अनुलोम-विलोम,उज्जई प्राणायाम,भ्रामरी उदगीत व प्रणव ध्यान प्राणायाम को दैनिक दिनचर्या का हिस्सा बनाने पर बल दिया यथा शक्ति शारीरिक व्यायाम जरुर करना चाहिए वर्तमान समय में घर पर बने खाने को खाएं व  गिलोय का काढ़ा दिन में दो बार जरूर पीएं हरी सब्जियों को जरुर अपने भोजन में शामिल करले आंवला बेल मुरब्बा खाने का हिस्सा बनाने पर फोकस किया घर पर दैनिक यज्ञ जरुर करें हवन कुण्ड विश्व का पहला एयर सेनिटेशन के लिए होम जरुर करें। केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि स्वामी रामदेव जी ने योग के क्षेत्र में विश्व क्रांति की है, उसका लाभ सभी को लेना चाहिए।आज योग प्राणायाम का प्रचलन इस समय और अधिक बढ़ गया है इसे दैनिक दिनचर्या का हिस्सा बनायें,उन्होंने पत्रकार रोहित शर्मा के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए इसे पत्रकारिता जगत की हानि बताया।  अध्यक्षता करते हुए आर्य नेता प्रदीप आर्य (अलवर) ने कहा कि आर्य समाज समाजसेवी संस्था है हमें इसके कार्य का और अधिक विस्तार करना चाहिए जिससे आम जनमानस जुड़ सके। केन्द्रीय आर्य युवक परिषद उत्तर प्रदेश के महामंत्री प्रवीण आर्य ने कहा कि यज्ञ से प्राणायाम शक्ति मजबूत होती हैं और वॉयरस नष्ट होता है। गायिका वेदिका आर्या, आशा आर्या, संध्या पांडेय, वीना वोहरा, सुखवर्षा सरदाना, सुशांता, उर्मिला आर्या, ईश्वरदेवी, सुदेश आर्या, नरेंद्र आर्य सुमन, मधु खेड़ा आदि के भजन हुए। आचार्य महेन्द्रर भाई, देवेन्द्र गुप्ता, रवीन्द्र गुप्ता, सौरभ गुप्ता, वेदप्रकाश भगत, कमलेश हसीजा, निर्मल विरमानी, विजय गुलाटी, अनिल कक्कड़, प्रवीना ठक्कर आदि उपस्थित थे।