पार्षद सरदार सिंह भाटी ने मुख्यमंत्री से की जिलाधिकारी समेत तमाम अफसरों को हटाने की मांग




धनसिंह-समीक्षा न्यूज  

गाजियाबाद। नगर निगम के भाजपा पार्षद सरदार सिंह भाटी ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कहा है कि जनपद में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप से लोग संक्रमित हो गए है। कोरोना पीड़ितों को अस्पतालों मे ना बेड मिल रहे हैं और सही से इलाज भी नहीं किया जा रहा है। जो नम्बर अधिकारियो ने जारी किए हे उन्हें कोई उठाता नहीं है। जनता घरों एवम अस्तपतालो के बाहर दम तोड़ रही है। जिलाधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी,उप जिलाधिकारी,अपर जिलाधिकारी एवम अन्य अधिकारी अपना सरकारी नम्बर तक नहीं उठाते ऐसे अधिकारियो को तत्काल प्रभाव से हटाकर नए अधिकारीओ की नियुक्ति जाए ’ पत्र में सरदार सिंह भाटी ने मुख्यमंत्री से कहा है कि महानगर में कोरोना महामारी बुरी तरह से फैल चुकी है। यहां लोग बड़े परेशान है। जिला प्रशासन के अधिकारी व कर्मचारी जिनके सरकारी नम्बर दे रखे है, डीएम से लेकर एडीएम, एसडीम तहसीलदार, सीएमओ, डिप्टी सीएमओ कोई फोन नही उठा रहे है। आप चाहे अपने फोन से भी इनपर ट्राई कर असलियत पता कर सकते हैं । मरीज अस्पताल के गेट पर दम तोड़ रहे है। निजि अस्पताल वाले मरीज को भर्ती नही कर रहे है।उनका कहना है कि हे हमारे पास आक्सीजन नहीं हे बेड नहीं हे मँहगे एवम सिफारिस से बेड और रूम दे रहे हे जो आपने सरकारी अस्पताल बनाये है वो मरीजों को भगा रहे है कोई सुनने को राजी नही है किसी भी वार्ड में नगर निगम द्वाराकोई सेनिटाइजर नही किया जा रहा हे ’ नगर निगम के सारे अधिकारी नगरायुक्त से लेकर नीचे तक के कोई अधिकारी काम करने से राजी नही है प्रत्यक्ष के लिये प्रमाण की जरूरत नही है आप स्वम इन्हें चैक करवाइये । यहां की जनता बहुत परेशान हो रही है जी मेरे पड़ोस से अभीतक 20 से 25 लोग कोरोना वायरस की चपेट मे आकर और उन्हें वक्त पर अस्तपताल ना मिलने पर उनका दिहान्त हो गया हे । पार्षद सरदार सिंह भाटी ने कहा है कि वे भी एक जनप्रतिनिधि है, वर्तमान मे पार्षद है, पूर्व मे नगर निगम उपाध्यक्ष, मोहननगर जोन के चेयरमैन रह चुके हैं । ओर जनप्रतिनिधि होने के नाते आपसे निवेदन कर रहा हू कि डी एम,सीएमओ डिप्टी सीएमओ, जिला प्रशासन के अधिकारियों एवं नगरनिगम के अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से गाजियाबाद से हटाया जाए और नए अधिकारी तैनात किए जाए ताकि यहां की जनता को राहत की सांस मिल सके। अस्पतालों के ऊपर सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए ताकि ये लोग जनता को परेशान नही कर सके।