"सुखमय जीवन के आधार" पर आर्य गोष्टी सम्पन्न


धनसिंह—समीक्षा न्यूज

गाजियाबाद। केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के तत्वावधान में "सुखमय जीवन के आधार" विषय पर ऑनलाइन जूम पर आर्य गोष्टी का आयोजन किया गया,साथ ही आजाद हिंद फौज के 75 वें स्थापना दिवस पर बधाई दी गई। कोरोना काल में परिषद का यह 205 वां वेबिनार था।

योगाचार्य श्रुति सेतिया ने कहा कि आज लोग जीरो फिगर बनाने में जुटे हैं,अपितु उन्हें चाहिए कि जीरो फिक्र करे,बहुत सारी समस्याएं स्वयं ही सुलझ जायेंगी। उन्होंने कहा कि जीवन में सुख दुःख,लाभ हानि,आशा निराशा, रुग्णता व स्वास्थ्य लाभ आते व जाते रहते है परन्तु हमें विचलित नहीं होना चाहिये व उनका सामना संघर्ष से करना चाहिए। चिंताओं से भागना नहीं अपितु बुद्धि व विवेक से मुकाबला करना चाहिए।योग सुखमय जीवन का आधार है इसे निरंतर अपनाना चाहिए।

केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि आज के ही दिन 18 अप्रैल 1942 को रासबिहारी बोस ने आजाद हिंद फौज की स्थापना की थी,बाद में उसका नेतृत्व नेताजी सुभाषचंद्र बोस को सौप दिया,देश की आजादी की लड़ाई में नेताजी सुभाष व आजाद हिंद फौज का सराहनीय योगदान रहा जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता।फौज के बलिदानी सैनिकों को आज हम नमन करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं।

आर्य नेता राजकुमार भंडारी व अध्यक्ष उर्मिला आर्या (अध्यक्ष, आर्य युवती परिषद) ने कहा कि बर्दाश्त करो और माफ करो तभी यह जीवन सही चल सकता है। 

वैदिक विद्वान आचार्य अखिलेश्वर जी (आनन्द धाम,हरिद्वार) ने अपना आशीर्वाद दिया।

केन्द्रीय आर्य युवक परिषद उत्तर प्रदेश के महामंत्री प्रवीण आर्य ने कहा कि "जिस घर में एक दूजे की बात जाए मानी, उस घर में न आये कोई परेशानी " के माध्यम से अपना संदेश दिया।

गायिका संगीता आर्या गीत, पुष्पा चुघ,नरेंद्र आर्य सुमन, आशा आर्या, बिंदु मदान, प्रवीना ठक्कर, रवीन्द्र गुप्ता आदि ने गीत सुनाये।

आचार्य महेन्द्र भाई, सौरभ गुप्ता,  डॉ भारत वेदालंकार, डॉ सुषमा आर्या, डॉ रचना चावला आदि उपस्थित थे।