स्वास्थ्य विभाग में बड़े पैमाने पर हो ​रहा है भ्रष्टाचार: पार्षद मनोज चौधरी


धनसिंह—समीक्षा न्यूज

गाजियाबाद। कांग्रेस के नेता एवं नगर निगम पार्षद मनोज चौधरी ने नगर आयुक्त से मांग करते हुए कहा कि नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग में बडे पैमाने पर भष्टाचार हो रहा है खुले आम दो लाख रुपये मे डाईवर नियुक्त किए जा रहे है पांच लाख रुपये में इस्पेक्टर की नियुक्ति की जा रही

है इंस्पेक्टर की नियुक्ति शासन स्तर से होती हैं सारा भष्टाचार नगर स्वास्थ्य अधिकारी शामिल है। डीजल की कालाबाजारी मे इस्पेक्टर व नगर स्वास्थ्य अधिकारी की नूरा कुश्ती चल रही हैं पिछले दिनों के डीजल पर बडे पैमाने पर कमीशन मांगने का रिकॉर्ड करने का दावा किया गया लेकिन नगर निगम के अधिकारियों ने उसकी जांच हेतु थाना में रिपोर्ट दर्ज नहीं करवाई इतने बड़े भष्टाचार की जांच करवानी निगम अधिकारी यों ने जरूरी नहीं समझा यह समझ से परे हैं। नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग में जो सामान की खरीदारी हो रही हैं उसमे बडे पैमाने पर कमीशन लिया जा रहा है। करोड़ों रुपये की बायोमैट्रिक मशीन की खरीदारी हुई उनमे धूल चढ कर खराब पडी हैं मच्छर की दवाएं छिडकाव के लिए मशीन आई ज्यादातर वो दो दिन में खराब हो गई मेरे वार्ड की मशीन आज तक खराब है। सफाई कर्मचारियों की संख्या करीब तीस प्रति शत कार्य आते ही नहीं इस खेल मे सुपरवाइजर इस्पेक्टर व स्वास्थ्य नगर अधिकारी भी शामिल है अधिकारी गजियाबाद की जनता के खून पसीने की कमाई को जमकर लूट रहे है। महापौर आशा शर्मा ने भी मालियों की फर्जी हाजिरी के खेल का खुलासा किया था लेकिन जांच शून्य रही मेरा नगर आयुक्त से निवेदन है कि उपरोक्त भष्टाचार की जांच से शासन से किसी बडी जांच एंजेसी से करवाने का अनरोध करें स्वास्थ्य नगर अधिकारी को तत्काल प्रभाव से रिलीज करने की कार्य वाही करने की कृपा करें।