आॅनलाइन क्लासेज को प्रभावी बनाये जिला प्रशासन: हिमांशुलव

 


धनसिंह—समीक्षा न्यूज 

गाजियाबाद। भाजपा के वरिष्ठ पार्षद हिमांशु लव ने आॅनलाइन क्लासेज शुरू करने के फैसले पर सवाल उठाया है। शहरों में आॅनलाइन क्लासेज कल यानि बीस मई से शुरू हो रही है। ये क्लासेज सभी शिक्षण संस्थानों में शुरू होंगी। हिमांश लव ने कहा कि शहरों में सुविधाएं होने की वजह से छात्रों को आॅनलाइन क्लासेज एटेंड करने में परेशानी नहीं होगी लेकि न ग्रामीण इलाको में रहने वाले छात्रों का क्या होगा? उनके पास साधन नहीं है तो वै कैसे क्लासेज एटेंड कर पाएंगे। इससे ग्रामीण क्षेत्रों के छात्र पीछे रह जाएंगे। उन्होंने कहा कि कोई नहीं जानता कि देश को कब कोरोना से मुक्ति मिलेगी और जिंदगी कब सामान्य होगी, ऐसे में अब सरकार के सामने चुनौती है कि वो कि स तरह ग्रामीण और शहरी इलाकोें के छात्रों को एक रूपता से कक्षाएं एटेंड करने का मौका दें। जिनके पास स्मार्ट फोन और इंटरनेट नहीं है, वे कैसे क्लासेज एटेंड कर पाएंगे,इस पर अभीतक कोई दिशा निर्देश जारी नहीं किया गया। हिमांशु लव ने कहा कि बड़ा सवाल यह है कि कोविड-19 के बाद की दुनिया में मोबाइल एप्लिकेशन आधारित शिक्षण व्यवस्था भारत जैसे देश में कैसे बड़ी तादाद में बच्चों तक पहुंच सकती है। 43 प्रतिशत लोगों के बच्चों के पास आॅनलाइन क्लासेस के लिए कम्प्यूटर, टेबलेट, प्रिंटर, राउटर जैसी चीजें नहीं है। उन्होंने कहा कि जिनके पास स्मार्ट फोन नहीं है और जो इंटरनेट एसेस नहीं कर सकते हैं, स्थानीय प्रशासन की तरफ से ऐसे परिवारों के बच्चों को छोटा- मोटा एजुके शनल किट बनाकर देना चाहिए।