"कोरोना के बाद प्रभाव" पर गोष्ठी सम्पन्न


धनसिंह—समीक्षा न्यूज  

हल्का व्यायाम-प्राणायाम, खुश रहैं,पौष्टिक भोजन से होगा कल्याण -डॉ. सुनील रहेजा(एम एस,जी बी पंत अस्पताल)

बैंक में संयुक्त खाता व उत्तराधिकारी नियुक्त करें-यशोवीर आर्य

गाजियाबाद। केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के तत्वावधान में "कोरोना के बाद प्रभाव" पर गोष्ठी का ऑनलाइन आयोजन किया गया। यह कोरोना काल में 239वां वेबिनार था।

जी बी पंत अस्पताल के एम एस डॉ. सुनील रहेजा ने कहा कि कोरोना के बाद के प्रभाव चिंता व सावधानी बरतने का विषय है। कमजोरी होना स्वाभाविक ही है, इसके लिए पौष्टिक आहार लें साथ ही हल्का व्यायाम करें। व्यक्ति को खुश रहना चाहिए। योग और प्राणायाम रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में अत्यंत सहायक हैं योग प्रतिदिन करें। मास्क ठीक से पहने।घर पर ही आधा घंटा किसी बहाने से चलते रहे इससे शक्ति का संचार होगा। समय समय पर शुगर,बी पी व ऑक्सीजन लेवल चेक करते रहैं यदि यह सावधानी बरतेंगे तो शीघ्र रिकवरी हो जायेगी।

मुख्य अतिथि यशोवीर आर्य ने कहा कि कोरोना काल में अनेको अपनो को हमने खोया है,अतः यह ध्यान रखना चाहिए कि बैंक में संयुक्त खाता आपरेट करें व उत्तराधिकारी अवश्य नामांकित करें जिससे बाद में परिवार वालो को समस्याओं का सामना न करना पड़े।सभी आवश्यक दस्तावेज एक फ़ाइल में संभाल कर रखें यह सावधानी भी आवश्यक है।

केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि साहस,प्रसन्नता,मित्रता से स्वास्थ्य लाभ में बढ़ोतरी होगी। मित्रो से गपशप लगाएंऔर संगीत पर डांस करें ये ओषधि का काम करेगा।

अध्यक्ष डॉ.(कर्नल)विपिन खेड़ा ने कहा कि हम छोटी छोटी बातों का ध्यान रखकर शीघ्र स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर सकते है।

प्रांतीय महामंत्री प्रवीण आर्य ने सन्त कबीर के प्राकट्य दिवस पर कहा कि कबीर दास जी हमारे हिंदी साहित्य के एक जाने माने महान कवि होने के साथ ही एक समाज सुधारक भी थे,उन्होंने समाज में पाखंड,अंधविश्वास, कुरीतिओं को ख़त्म करने की कोशिश की और अपनी अंतिम श्वास तक जगत कल्याण के लिये जीते रहे।

गायिका आशा आर्या,दीप्ति सपरा,उर्मिला आर्या,मर्दुल अग्रवाल,जनक अरोड़ा,रवीन्द्र गुप्ता,ईश्वरदेवी आदि ने मधुर भजन प्रस्तुत किये।

प्रमुख रूप से सौरभ गुप्ता,देवेन्द्र गुप्ता,विजय लक्ष्मी आर्या,चंद्र कांता आर्या,सुखवर्षा सरदाना, अमरनाथ बत्रा,राजेश मेहंदीरत्ता आदि उपस्थित थे।