आठ दिवसीय आर्य युवक निर्माण शिविर का समापन


धनसिंह—समीक्षा न्यूज  

वर्तमान परिस्थितियों में युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका -राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य

अनुशासन,आचरण,संस्कार आदर्श युवक की पहचान -आचार्य गवेन्द्र शास्त्री

गाजियाबाद। केन्द्रीय आर्य युवक परिषद का वार्षिक आठ दिवसीय "आर्य युवक चरित्र निर्माण शिविर " ऑनलाइन सोल्लास संम्पन्न हुआ। 

केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि देश की वर्तमान परिस्थितियों में युवा ही राष्ट्र का भविष्य तय करेंगे।चरित्रवान युवा राष्ट्र की अनमोल धरोहर है।जैसे युवा होंगे वैसा ही राष्ट्र व समाज बनेगा,देश की बहुसंख्यक आबादी युवाओं की ही है,अतः संस्कारित युवाओँ का निर्माण आर्य समाज की प्रार्थमिकता है जिससे आने वाला कल अच्छा हो और युवा देश की दिशा तय करें।

वैदिक विद्वान आचार्य गवेन्द्र शास्त्री ने कहा कि आदर्श युवा के गुणों में अनुशासन,संस्कार,समय पालन,आचरण आदि समाज में एक अलग पहचान देते है।अतः युवाओँ को अपनी दिनचर्या और व्यवहार पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

मुख्य अतिथि आर्य नेता ओम सपरा ने कहा कि हमारी वाणी नहीं अपितु आचरण बोलना चाहिए,अन्य लोग उसपर स्वयं आचरण करेंगे।

गायक नरेन्द्र आर्य सुमन,प्रवीन आर्या ने मधुर गीत प्रस्तुत किये। युवा नेता अजय सहगल (डलहौजी),स्वतंत्र कुकरेजा (करनाल),आचार्य महेन्द्र भाई, वीरेन्द्र आहूजा,के के यादव,प्रवीण आर्य (गाजियाबाद), यशोवीर आर्य,धर्म पाल आर्य, पवन सिंह आदि ने अपने विचार रखे।कार्यक्रम का कुशल संचालन अरुण आर्य ने किया।

आर्य युवाओं द्वारा योगासन,दंड बैठक,लाठी,जुडो कराटे, मलखम्ब आदि के सुन्दर व्यायाम प्रदर्शन दिखाए गए।

प्रमुख रूप से सौरभ गुप्ता, योगेन्द्र शास्त्री,वरुण आर्य,शिवम मिश्रा,लोकेश आर्य,वेदांशु आर्य, रामकुमार सिंह,रामकृष्ण शास्त्री, आस्था आर्या,किशन आर्य,गौरव झा आदि उपस्थित थे ।