पुरानी पेंशन बहाल करने को लेकर प्राथमिक शिक्षक संघ ने मंत्री सुबोध उनियाल को सौंपा ज्ञापन


वाच​स्पति रयाल—समीक्षा न्यूज  

नरेंद्रनगर। शिक्षकों और कर्मचारियों के ज्वलंत मुद्दों को लेकर प्राथमिक शिक्षक संघ शाखा नरेंद्रनगर ने संघ के अध्यक्ष  महेश सिंह गुसाईं के नेतृत्व में क्षेत्रीय विधायक और प्रदेश की कृषि तथा उद्यान मंत्री सुबोध उनियाल से नरेंद्रनगर स्थित आवास पर  मुलाकात करते हुए उन्हें मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपा।

   प्रदेश के कृषि मंत्री एवं उत्तराखंड सरकार में शासकीय प्रवक्ता सुबोध उनियाल को ज्ञापन सौंपते हुए  शिक्षकों के प्रतिनिधिमंडल का कहना था कि वर्ष 2005 से नियुक्त शिक्षक-कर्मचारियों को पेंशन से वंचित कर दिया गया है।

प्रदेश के सभी शिक्षक संगठन

और कर्मचारी संघ निरंतर पुरानी पेंशन बहाली की मांग करते आ रहे हैं,किंतु सरकार ने अभी तक शिक्षक-कर्मचारियों की इस मांग को  गंभीरता से नहीं लिया है।

  अपनी तेज-तर्रार प्रवृत्ति और निर्णय लेने की त्वरित क्षमता के लिए जाने जाने वाले क्षेत्रीय विधायक और प्रदेश के कृषि मंत्री सुबोध उनियाल ने शिक्षक संगठन के प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त किया कि सरकार की मंशा शिक्षक/कर्मचारियों की समस्याओं का त्वरित गति से निस्तारण करने का है। प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार यह कतई नहीं चाहती कि शिक्षक/कर्मचारियों को उनकी वेतन और पेंशन का लाभ न मिले।

  शिक्षक संगठन के अध्यक्ष महेश गुसाईं सहित प्रतिनिधि मंडल ने मंत्री सुबोध उनियाल से अपील की है कि वे इस मसले को कैबिनेट में प्रस्ताव के जरिए पास करवा कर ज्वलंत मुद्दे को निस्तारित करवाने में अहम भूमिका निभा सकने में सक्षम हैं।

 बताते चलें कि प्रतिनिधि मंडल द्वारा मंत्री से वार्ता के दौरान 17,140 रुपए मूल वेतन के प्रकरण पर कृषि मंत्री ने जनपद टिहरी के प्रकरणों में सातवें वेतन का लाभ नहीं मिलने पर सचिव शिक्षा को तत्काल कार्यवाही के लिए पत्र लिखा है।

प्रतिनिधिमंडल में अध्यक्ष महेश गुसाईं के अलावा मंत्री राकेश उनियाल,सुरेंद्र गोदियाल, महावीर भंडारी, राजपाल सिंह पुरसोडा व उत्तम रावत आदि थे।