गज़ल से बान्धा समा


धनसिंह—समीक्षा न्यूज  

गज़ल दिल दिमाग को सकून देती है-राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य

गाजियाबाद। केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के तत्वावधान में "गज़ल" का ऑनलाइन कार्यक्रम आयोजित किया गया।यह कोरोना काल मे 247 वां वेबिनार था।

केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि कोरोना काल में लोग घरों में बंद हैं अकेलापन, उदासीनता का वातावरण है ऐसे समय में गज़ल मन को शांति प्रदान करती है।जगजीत सिंह जी,पंकज उदास,अनूप जलोटा आदि ने लोगो को जीने का रास्ता बताया है।

नरेन्द्र आर्य सुमन,प्रवीन आर्या,नताशा कुमार,दीप्ति सपरा, सुदेश आर्या,किरण सहगल,नरेश खन्ना,रवीन्द्र गुप्ता,वीना वोहरा आदि ने रंजिश ही सही,ओठो से छुलो तुम,तुम इतना जो मुस्कुरा रहे हो,दिल के अरमान आंसुओ, तुम तसल्ली न दो सिर्फ बैठे रहो आदि से वातावरण आकर्षक बना दिया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता अंजू मेहरोत्रा(कालका ग्रुप ऑफ एजुकेशन) ने की।

राष्ट्रीय मंत्री प्रवीण आर्य ने गायक कलाकारों को धन्यवाद ज्ञापित किया और एक गजल प्रस्तुत की।

केन्द्रीय आर्य युवक परिषद द्वारा कोरोना काल में भिन्न भिन्न विषयों पर 247 वेबिनार कर चुका है।