दूसरे दिन भी जारी रहा एमएमएच कॉलिज में वृक्षारोपण


धनसिंह—समीक्षा न्यूज  

गाजियाबाद। ग्रीन हाउस गैस उत्सर्जन और ग्लोबल वार्मिंग के कारण जलवायु परिवर्तन के दुष्प्रभाव अपने असर व्यापक करते जा रहे हैं। पहले माना जाता था कि जंगल हमारी पृथ्वी को बचाने में मददगार होते हैं, लेकिन खुद उनका अस्तित्व खतरे में हैं। ऐसे में जंगल बचाने के साथ साथ वृक्षारोपण बहुत जरूरी हो गया है। वन महोत्सव के उपलक्ष्य  में रविवार को शुरू हुए वृक्षारोपण अभियान को आज भी एमएमएच कालेज गाज़ियाबाद में जारी रखा गया। वृक्षारोपण में पीपल, कनेर और अन्य कई ऐसे पौधे रोपे गए जिनसे ऑक्सीजन मिल सके और पर्यावरण को स्वच्छ बनाने में सहयोग हो सके। कार्यक्रम में राष्ट्रीय सेवा योजना के चारों कार्यक्रम अधिकारी -  डा. संजीत प्रताप सिंह, डा. गौतम बैनर्जी, डा अनुपमा गौड़ और आरती सिंह ने पौधे रोपित किए। आज करीब 100 पौधे लगाए गए। राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के स्वयंसेवको ने वृक्षारोपण में बड़े उत्साह के साथ प्रतिभाग किया। इस वृक्षारोपण कार्यक्रम में कालेज के अन्य प्राध्यापक डा स्नेह लता, डा स्नेह लता गोयल, डा केशव कुमार, डा रोज़ी मिश्रा, डा सुता कुमारी, डा क्रांति बोध, डा शैलेंद्र गंगवार, डा अजय कुमार राकेश, डा अल्का व्यास, डा अल्पना रानी, डा रीमा उपाध्याय आदि ने भी दो-दो पौधे रोपित किए। स्वयंसेवक सचिन, नावेद, आरती, राहुल, सौरभ, रूपम, खालिद, अंजलि, सूफियान, ज्योति, बबिता, शेखर आदि ने भी कॉलेज परिसर में पौधे रोपित किए और वृक्षारोपण अभियान में सहयोग किया।