112 वें बलिदान दिवस पर किया नमन

समीक्षा न्यूज संवाददाता   

गाजियाबाद। केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के तत्वावधान में महान क्रांतिकारी  मदनलाल ढींगरा के 112 वें बलिदान दिवस पर ऑनलाइन श्रद्धांजलि अर्पित की गई । उल्लेखनीय है कि 1 जुलाई 1909 को इंडियन नेशनल एसोसिएशन के कार्यक्रम में लंदन में उन्होंने विलियम हट कर्जन वायली की गोली मारकर हत्या कर दी थी तथा 17 अगस्त 1909 को लंदन के पेंट विले जेल में मदनलाल ढींगरा को फांसी दी गई ।

केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि मदनलाल ढींगरा जैसे हजारों नोजवानो ने अपने रक्त से  भारत को स्वतंत्र करवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई । राष्ट्र उनके बलिदान को सदियों तक याद रखेगा । उन्होंने बताया कि लंदन का इंडिया हाउस भारत के स्वतंत्रता संग्राम के सेनानियों का गढ़ था । श्यामजी कृष्ण वर्मा व वीर सावरकर से प्रेरणा लेकर नोजवान देश की आजादी के लिए तैयार होते थे । आज युवाओँ को ढींगरा के बलिदान से प्रेरणा लेकर देश की रक्षा का संकल्प लेना चाहिए ।

राष्ट्रीय मंत्री प्रवीण आर्य ने कहा कि आजादी की लड़ाई में भाग लेने हेतु  श्यामजी कृष्ण वर्मा ने महर्षि दयानंद से प्रेरणा ली तथा हजारों युवाओँ को आजादी के आंदोलन से जोड़ा ।

गायक नरेंद्र आर्य सुमन,प्रवीन आर्या,संगीता आर्या,सुदेश आर्या, दीप्ति सपरा, देवेन्द्र गुप्ता आदि ने देशभक्ति पूर्ण गीत सुनाये ।

प्रमुख रूप से ओम सपरा, आर पी सूरी,महेंद्र भाई, अरुण आर्य, वीना वोहरा आदि उपस्थित थे।