पूरी लगन से कार्य करने की आवश्यकता है : रामदुलार यादव





धनसिंह—समीक्षा न्यूज  

साहिबाबाद : समाजवादी पार्टी द्वारा जिला महासचिव समाजवादी पार्टी जनपद गाजियाबाद वीरेन्द्र यादव एडवोकेट के नेतृत्व में महान संत, नोबुल पुरस्कार पद्म श्री, भारत रत्न से सम्मानित, करुणा, दया की प्रति मूर्ति "मदर टेरसा" का जन्म दिन “सेवा सद्भाव दिवस” के रूप में ज्ञान पीठ केन्द्र 1, स्वरूप पार्क जी0 टी0 रोड साहिबाबाद के प्रांगण में आयोजित किया गया| 

समारोह की अध्यक्षता विधान सभा अध्यक्ष साहिबाबाद अनीता सिंह, संचालन समाजवादी महिला सभा जिला गाजियाबाद की उपाध्यक्ष संजू शर्मा, आयोजन इंजी0 धीरेन्द्र यादव ने किया, लोक शिक्षण अभियान ट्रस्ट के संस्थापक/अध्यक्ष रामदुलार यादव मुख्य रूप से कार्यक्रम में शामिल रहे, समारोह मे शामिल सभी महानुभावों, विद्वानों, महिला कार्यकर्ताओं ने मदर टेरेसा के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उनके द्वारा किये गये सराहनीय कार्यों को याद करते हुए पुष्प अर्पित किया, महिला उत्थान संस्था की राष्ट्रीय अध्यक्ष बिन्दु राय ने उनके सम्मान मे गीत प्रस्तुत किया,

साहिबाबाद विधान सभा की महासचिव लक्ष्मी यादव, गरिमांजलि स्कूल के प्रबन्धक राम प्यारे यादव ने भी विचार व्यक्त किया| कार्यक्रम में वैश्विक महामारी कोरोना के बचाव के लिए ईमूनिटी बूस्टर क्वाद का वितरण किया गया|

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता राम दुलार यादव ने कहा कि मानवता के कल्याण के लिए मदर टेरेसा द्वारा किये गये कार्य प्रसंशनीय और प्रेरणा दायक है| 

26 अगस्त 1910 मे जन्मी 1948 मे इन्होने भारत की स्वेच्छा से नागरिकता ली तथा 1950 मे ही मिशनरी ऑफ चैरिटी नामक संस्था की कलकत्ता मे स्थापना किया, 45 साल तक गरीब, अनाथ, पीड़ित, बीमार की सेवा करते हुए 123 देशों मे 610 स्थानों का दायित्व संभाला, साथ-साथ संस्था का प्रचार-प्रसार किया तथा कहा कि शब्दों से मानवजाति की सेवा नहीं होती उसके लिए पूरी लगन से जुटने की आवश्यकता होती है, उनका मानना था प्रेम और सद्भाव की भूख रोटी की भूख से अधिक महत्वपूर्ण है| आज सेवा कम नफरत ज्यादा समाज मे व्याप्त है तथा मानवता के कल्याण का झूठा प्रचार किया जा रहा है, देश की तीन चौथाई जनता पर न पूरी रोटी और कपड़ा है, चिकित्सा और शिक्षा बदतर हालत मे है, सामाजिक संस्थाओं के संचालकों को मदर टेरेसा से प्रेरणा लेनी चाहिए तभी उस महान संत का सपना साकार होगा| उन्हे पॉप जॉन पॉल द्वितीय ने कलकत्ता की धन्य की उपाधि से अलंकृत किया|

समाजवादी पार्टी के जिला महासचिव वीरेन्द्र यादव एडवोकेट ने कहा कि मदर टेरेसा का मानना था कि सेवा कठिन कार्य है, इसके लिए पूर्ण समर्पण की आवश्यकता है, वही लोग सेवा कर सकते हैं जो प्यार और सांत्वना दे सकते है, भूखों के लिए भोजन, बीमार के लिए दवा, बेघर के लिए घर तथा अपाहिजों को हृदय की गहराईयों से गले लगाये, उनकी सेवा से प्रभावित अमेरिका के कैथोलिक विश्वविद्यालय ने डाक्टरेट तथा बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय ने उन्हे डी0 लिट0 की उपाधि से सम्मानित किया, उन्हे विश्व के सबसे बड़े नोबल पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया, नोबल पुरस्कार ने भारतीयों को गौरवान्वित किया, वंचित, शोषित, पीड़ित, बेबस लोगों मे खुशी की लहर दौड़ पड़ी| उन्हे संत की उपाधि से भी अलंकृत किया| आज गरीबों के साथ ऐसा मज़ाक हो रहा है कि एक सौ रुपये के खाने का सामान 150/= के थैले मे दिया जा रहा, जितनी मदद नहीं, उससे अधिक प्रचार पर खर्च किया जा रहा, कहा जा रहा है कि मुफ्त वैक्सीन उत्सव, मुफ्त अन्न कल्याण उत्सव जबकि जनता अप्रत्यक्ष कर के साथ-साथ रसोईं गैस, हर प्रकार के तेल, आवश्यक वस्तुओं की बढ़ी कीमत से बेहाल है, हम जाति-धर्म की दीवार को 21वीं शदी मे भी नहीं तोड़ पा रहे हैं, हमे जन-कल्याण के लिए बहुत कुछ करने की आवश्यकता है, नहीं तो हमें इतिहास माफ नहीं करेगा

कार्यक्रम में प्रमुख लोग शामिल रहे राम दुलार यादव, वीरेन्द्र यादव एडवोकेट, ओम प्रकाश अरोड़ा, संजू शर्मा, बिन्दु राय, इंजी0 धीरेन्द्र यादव, अनीता सिंह, लक्ष्मी यादव, कल्पना यादव, इशरत, शबाना, रेनूपुरी, ममता, आरती, आयुषी, शोभा देवी, उर्मिला शर्मा, कृष्ण कान्त सिंह, राम प्यारे यादव, जगपाल, करमुला, रवि, अशरफ, राजेंद्र यादव, रहमुद्दीन, पुष्पेंद्र सिंह, संजय, जाऊरहमान, अमर बहादुर, राकेश गोस्वामी, सुभाष यादव, पप्पू सिंह, हरिकिशन, अखिलेश कुमार शुक्ल, प्रेम चंद पटेल, राजीव गर्ग, केदार सिंह, अंकित राय, सुरेश कुमार भारद्वाज, मो0 हीरा, हाजी मो0 सलाम, अनवर, मोनार, जब्बार, शमशेर, रिकू, फूलहसन आदि|