त्रिदिवसीय वेद प्रचार एवं धर्मसंस्थापक योगेश्वर कृष्ण जन्मोत्सव धूमधाम से संपन्न




धनसिंह—समीक्षा न्यूज  

आर्य समाज सदैव राष्ट्र हित के कार्यों में अग्रणी भूमिका में दिखाई देता है-देवेन्द्र पाल वर्मा

जातिवाद के बंधनों को तोड़कर सर्व समाज को एकता के सूत्र में पिरो कर देश हित के कार्य करने की आवश्यकता- विनय आर्य

गाजियाबाद। आर्य समाज राजनगर सेक्टर 5 के तत्वावधान में त्रिदिवसीय वेद प्रचार,ऋग्वेदीय यज्ञ एवं धर्मसंस्थापक योगेश्वर कृष्ण जन्मोत्सव धूमधाम से सफलतापूर्वक संपन्न हुआ।

ऋग्वेदीय यज्ञ के  ब्रह्मा एवं मुख्य वक्ता वैदिक विद्वान आचार्य विष्णु मित्र वेदार्थी ने बताया योगीराज श्रीकृष्ण का चरित्र अति उत्तम है उन्होंने जीवन में  कोई ऐसा कार्य नहीं किया जो बुरा कार्य हो आज हमें उनके जीवन से उनके गुण कर्म स्वभाव को अपनाने का व्रत लेना चाहिए।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री देवेंद्र पाल वर्मा प्रधान आर्य प्रतिनिधि सभा उत्तर प्रदेश एवं विशिष्ट अतिथि श्री विनय आर्य मंत्री दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा का जिला गाजियाबाद के सभी आर्य समाजों के पदाधिकारियों द्वारा भव्य स्वागत किया गया 

आर्य प्रतिनिधि सभा उत्तर प्रदेश के यशस्वी प्रधान श्री देवेन्द्र पाल वर्मा ने अपने उद्बोधन में बताया कि आर्य समाज सदा से ही देश हित के कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेता रहा है। चाहे वह पाखंड का खंडन करना हो, या देश को दासता की बेड़ियों से स्वतंत्र कराना हो, या स्त्री शिक्षा को बढ़ाना हो, समाज के हर वर्ग प्रत्येक इकाई को वेद पढ़ने के अधिकार की लड़ाई को लड़ना हो, छुआछूत जातिवाद के दंश से देश को बचाना हो, बाल विवाह सती प्रथा आदि कुरीतियों का खंडन करना हो, युवाओं को नशे से मुक्त करा कर मुख्यधारा में लाने के आंदोलन चलाना हो, चाहे गोरक्षा का आंदोलन हो, आर्य समाज सदैव ही समाज एवं राष्ट्र हित के कार्यों में अग्रणी भूमिका में दिखाई देता है। वर्मा जी ने प्रत्येक घर को यज्ञ से जोड़ने का आह्वान समाज से किया। उन्होंने आर्य समाज की आगामी गतिविधियों की चर्चा करते हुए बताया कि "घर-घर यज्ञ, हर घर यज्ञ" का बीड़ा हम सभी को उठाना होगा। आपसी सहयोग एवं बंधुत्व की भावना से समाज को आगे लेकर चलना होगा। 

आर्य प्रतिनिधि सभा दिल्ली के महामंत्री श्री विनय आर्य  ने देश एवं विदेश में हो रहे घटनाक्रम पर प्रत्येक भारतीय को चिंता एवं चिंतन करने की प्रेरणा दी। उन्होंने अपने उद्बोधन में कहा कि आज समाज को श्री कृष्ण जी के जीवन चरित्र को जानकर उनके गुण, कर्म, स्वभाव को अपनी जीवनशैली में उतारने की आवश्यकता है। उन्होंने श्री कृष्ण और सुदामा की मित्रता का वर्णन करते हुए समाज से आह्वान किया कि हमें भी ऊंच-नीच, छूत-अछूत, अमीरी-गरीबी व जातिवाद के बंधनों को तोड़कर सर्व समाज को एकता के सूत्र में पिरो कर देश हित के कार्य करने की आवश्यकता है।

सुप्रसिद्ध भजनोपदेशक पंडित योगेश दत्त ने श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर उनके जीवन पर सुन्दर सारगर्भित भजनों को सुनाया जिससे श्रोता भाव विभोर हो गए।

आर्य समाज राजनगर के संरक्षक श्रद्धानंद शर्मा जी ने सभी आगंतुकों का का हार्दिक स्वागत किया और बताया की योगीराज श्री कृष्ण के सचरित्रता  मित्रता की भावना वीरता और विपत्ति में धैर्य के गुणों को धारण करने का आज यह दिन है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रसिद्ध उद्योगपति व समाजसेवी श्री ओम प्रकाश आर्य जी ने की। 

आर्य समाज राजनगर के यशस्वी प्रधान श्री सुभाष चंद गुप्ता ने सभी को धन्यवाद ज्ञापित किया

कार्यक्रम का कुशल संचालन समाज के यशस्वी मंत्री सत्यवीर चौधरी जी ने किया।

इस अवसर पर मुख्य रूप से सर्वश्री राम निवास शास्त्री,गौरव आर्य,प्रमोद चौधरी,प्रवीण आर्य  राजेन्द्र त्यागी, पार्षद हरवीर सिंह  सुमन,सुषमा शर्मा,सुभाष चन्द गर्ग,शिल्पा गर्ग,कौशल गुप्ता मगंन सिंह त्यागी वीरेंद्र नाथ सरदाना सुरेश कुमार गर्ग शशि बल गुप्ता शंकर लाल शर्मा  रविंद्र आत्रे आर्य केंद्रीय सभा के प्रधान श्री नरेंद्र कुमार पांचाल आदि उपस्थित रहे।