विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी में मनमुटाव


दीपेन्द्र सिंह—उप सम्पादक

समीक्षा न्यूज 

गा​जियाबाद।  विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी में मनमुटाव बढ़ रहा है     जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव पास आ रहे हैं उत्तर प्रदेश के प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी पार्टी गाजियाबाद में आपसी मनमुटाव बढ़ रहा है शहर विधानसभा सीट पर समाजवादी पार्टी का कोई भी प्रमुख प्रत्याशी चुनाव लड़ने के लिए तैयार ही नहीं है मुरादनगर विधानसभा में समाजवादी पार्टी की तरफ से कई लोगों ने आवेदन किया है ज्यादातर लोग मुरादनगर विधानसभा से चुनाव लड़ने के इच्छुक हैं जिनमें प्रमुख नाम हैं महानगर अध्यक्ष राहुल चौधरी पूर्व विधायक सुरेंद्र कुमार मुन्नी व्यापारी नेता अभिषेक गर्ग एवं कारोबारी पंकज शर्मा राहुल चौधरी और सुरेंद्र कुमार मुन्नी की जोड़ी सबके सामने प्रसिद्ध है लेकिन जब से राहुल चौधरी ने दावेदारी पेश की है इस जोड़ी में थोड़ी दरार आ गई है अगर यह दरार बड़ी तो समाजवादी पार्टी को बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है यह भी हो सकता है कि मुरादनगर विधानसभा की सीट गठबंधन में राष्ट्रीय लोकदल के पास चली जाए और पूर्व लोकसभा चुनाव में पुराने फार्मूले के आधार पर समाजवादी पार्टी का कोई नेता राष्ट्रीय लोक दल के निशान पर चुनाव लड़े मुरादनगर विधानसभा में लगभग 40% भाग शहरी क्षेत्र का है शहरी क्षेत्र में रहने वाले समाजवादी पार्टी के नेता इस समय हाशिए पर हैं संगठन की तरफ से उनको साथ लेकर चलने की कोई कोशिश नहीं की जा रही जिसका खामियाजा चुनाव के दौरान समाजवादी पार्टी को उठाना पड़ सकता है अब हम बात करते हैं सबसे बड़ी विधानसभा की साहिबाबाद विधानसभा की  बसपा छोड़कर समाजवादी में शामिल हुए पूर्व विधायक अमरपाल शर्मा बड़ा नाम है अमरपाल शर्मा तैयारी भी कर रहे हैं साहिबाबाद विधानसभा से चुनाव लड़ने की उनका जन संपर्क भी जोरों शोरों से क्षेत्र में चल रहा है क्षेत्र में लोकप्रिय समाजसेवी और ब्राह्मण नेता के नाम पर अमरपाल शर्मा को जाना जाता है वहीं दूसरी ओर जिला महासचिव वीरेंद्र यादव जोर शोर से विधानसभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं वह भी लगा कर जनसंपर्क कर रहे हैं वीरेंद्र यादव के साथ समाजवादी पार्टी के युवा नेताओं की टीम है जो लगातार वीरेंद्र यादव के साथ दिखाई देती है उस टीम के कुछ नेताओं द्वारा कुछ ऐसी टिप्पणियां प्रकाश में आ रही है जिस से साहिबाबाद विधानसभा क्षेत्र में समाजवादी पार्टी में फूट पड़ती दिखाई दे रही है आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है साहिबाबाद विधानसभा क्षेत्र से जिला उपाध्यक्ष मनमोहन गामा भी उम्मीदवारी की दौड़ में शामिल हैं मनमोहन गामा लगातार सुर्खियों में रहते हैं वर्तमान सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में समाजवादी पार्टी शाहबाद विधानसभा क्षेत्र में उनका स्थान प्रथम रहता है अपने पूर्वांचल बिरादरी के दम पर वह मैदान में उतरने की तैयारी में है अगर साहिबाबाद विधानसभा क्षेत्र में समाजवादी पार्टी को सफलता हासिल करनी है तो इतना मनमुटाव आपस में ना बढ़ाएं कि आने वाले समय में जिसको पार्टी उम्मीदवार बनाए उसका अंदरुनी विरोध ना हो इतनी कड़वाहट पैदा नहीं होनी चाहिए जिसकी चुनाव में भरपाई ना हो सके और भारी नुकसान उठाना पड़े अगले अंक में जारी रहेगा विधानसभा चुनाव पर,,,,,,,,,,,,,,,,,,,