"जपुजी साहिब" पर गोष्ठी सम्पन्न


धनसिंह—समीक्षा न्यूज  

जपुजी महान अवस्था प्राप्त करने का ज्ञान है-अस्तिन्दर कौर

गुरुनानक देव जी महान संत थे-हरभजन सिंह देयोल

गाजियाबाद। केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के तत्वावधान में "जपुजी साहिब" पर गोष्ठी का आयोजन किया गया । यह कोरोना काल में 270 वां वेबिनार था ।

मुख्य वक्ता अस्तिन्दर कौर ने कहा कि महान अवस्था प्राप्त करने का ज्ञान है जपुजी साहिब।श्री गुरु नानक देव जी महान संत हुए उन्होंने यह रचना लिखी है । उनका महान व्यक्तित्व इस रचना में झलकता है । इसमें 38 पौडीया व 2 शलोक हैं और मूलतंत्र में ईश्वर का सार है । जीव बालक रूप में संसार में विचरण कर रहा है ।  गुरु नानक देव जी के जीवन और शिक्षाओं पर प्रकाश डाला, वहीं उन्होंने  जपुजी साहिब की भी व्याख्या की।साथ ही जपुजी साहिब की पक्तियों के अर्थ किये व शब्द का गायन किया।

एडवोकेट डॉ.तरनजीत सिंह भसीन ने शब्द गायन किया और उसकी व्याख्या की। 

गायक प्रवीन आर्या,संगीता आर्या,सुदेश आर्या,  ईश्वर देवी, नरेंद्र आर्य सुमन ने बहुत ही सुंदर ढंग से भजनों व शब्द गायन करके वातावरण को सुगंधमयी बना दिया। 

कार्यक्रम  का बहुत ही सुंदर संचालन केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के अध्यक्ष अनिल आर्य  ने किया। इस अवसर पर उन्होंने  कहा कि गुरु नानक जी पूरी मानवता के गुरु हैं। डॉ. तेजिन्द्र सिंह,प्रवीन आर्य,राजेश मेहंदीरत्ता ने भी अपने विचार रखे ।

कार्यक्रम के अध्यक्ष सरदार  हरभजन सिंह दिओल ने सबका धन्यवाद किया व  गुरु नानकदेव जी के उपदेशों को जीवन में अपनाने पर बल दिया।