जब भी देश अखंडता का सवाल आया , विहिप ने हमेशा आगे बढ़कर देश का गौरव बढ़ाया : विजय शंकर तिवारी

 




धनसिंह—समीक्षा न्यूज  

गाजियाबाद। जब भी देश की अखंडता और एकता का मुद्दा सामने आया है ।उसमें विश्व हिंदू परिषद ने हमेशा महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है ।यही कारण है कि आज इस संगठन का विशाल वटवृक्ष भारत में ही नहीं बल्कि विश्व के 80 देशों में फैल चुका है। यह विचार विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय सह मंत्री और राष्ट्रीय प्रवक्ता विजय शंकर तिवारी ने आज यहां विश्व हिंदू परिषद के 57 वें स्थापना दिवस पर मुख्य वक्ता के रूप में व्यक्त किए। इस समारोह का आयोजन विश्व हिंदू परिषद की महानगर इकाई ने किया था। श्री तिवारी ने कहा कि जब धारा 370 का मामला उठा तो कुछ राष्ट्र विरोधी लोगों ने देश को तोड़ने की धमकी दी थी लेकिन विश्व हिंदू परिषद ने पूरे देश में राष्ट्रीय एकता का संदेश दिया जिसके चलते देश विरोधियों की जुबान पर लगाम लग गई। इसी प्रकार जब अयोध्या प्रकरण उठा तब भी राष्ट्र विरोधियों ने पूरे देश को धमकाने की कोशिश की थी ।लेकिन विश्व हिंदू परिषद ने यहां भी राम मंदिर निर्माण को लेकर सकारात्मक भूमिका निभाई। उन्होंने कहा कि पूरे विश्व में हिंदू धर्म का प्रचार करने का यह संगठन हृदय से कार्य कर रहा है। जिस के चर्चे आज पूरे विश्व में है। इसी क्रम में दूधेश्वर नाथ मंदिर के महंत और जूना अखाड़ा के अंतरराष्ट्रीय  प्रवक्ता महंत नारायण गिरी ने कहा कि विश्व हिंदू परिषद हिंदू संस्कृति और राष्ट्रभक्ति की धारा को लगातार भारत ही नहीं पूरे विश्व में फैला रहा है जिसके सकारात्मक परिणाम भी आ रहे हैं ।उन्होंने कहा कि हिंदू धर्म पूरे विश्व को जोड़ने का काम कर रहा है। विश्व हिंदू परिषद के महानगर अध्यक्ष डॉक्टर आलोक गर्ग ने कहा कि विश्व हिंदू परिषद की स्थापना को लेकर जो समारोह आयोजित किया गया है ,उसका उद्देश्य लोगों में यह जागरूकता लाना है। हिंदू समाज हमेशा देश को जोड़ने का काम करता है ।जब भी देश पर कोई संकट आता है ,तो इस संगठन का एक-एक कार्यकर्ता अपनी जान की बाजी लगाकर देश के लिए खड़ा हो जाता है। मंच का सफल संचालन विश्व हिंदू परिषद के महानगर मंत्री रवि दत्त कौशिक ने किया। इस मौके पर नीरज सिंह बजरंगी सुभाष बजरंगी नवीन गोतम ज्ञानेंद्र दुर्गेश गुप्ता अनिल रावत धर्मेंद्र कान्हा बजरंगी अमित त्यागी सचिन मित्तल गौरव राजीव गोयल आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे।