वीरेन्द्र यादव एडवोकेट के नेतृत्व में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी का जन्मदिन समारोह आयोजित

 




धनसिंह—समीक्षा न्यूज 

साहिबाबाद। ज्ञानपीठ केंद्र 1 स्वरूप पार्क जी0 टी0 रोड साहिबाबाद के प्रांगण में समाजवादी पार्टी के जिला महासचिव वीरेन्द्र यादव एडवोकेट के नेतृत्व में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी का जन्मदिन समारोह आयोजित किया गया, कार्यक्रम की अध्यक्षता श्रीमती अनीता सिंह अध्यक्ष साहिबाबाद महिला सभा ने आयोजन, इंजीनियर धीरेंद्र यादव, संचालन शिक्षाविद मुकेश शर्मा ने किया, महिला उत्थान संस्था की राष्ट्रीय अध्यक्ष बिंदु राय, रहमत जी प्रभारी गांधी विचार मंच उत्तर प्रदेश पत्रकार रहमुद्दीन, ज्योतिषाचार्य विनोद त्रिपाठी ने देश प्रेम से ओतप्रोत गीत सुना सभी को आत्म विभोर कर दिया, सैकड़ों साथियों ने महात्मा गांधी जी तथा लाल बहादुर शास्त्री जी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें स्मरण किया| कार्यक्रम को रामप्यारे यादव, योगेंद्र शर्मा, अंशु ठाकुर, सरदार अवतार सिंह काले ने भी संबोधित किया| समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता राम दुलार यादव मुख्य वक्ता ने भी विचार व्यक्त किया| कार्यक्रम को संबोधित करते हुए समाजवादी पार्टी के जिला महासचिव वीरेन्द्र यादव एडवोकेट ने कहा कि महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री जी के व्यक्तित्व और कृतित्व से हमें प्रेरणा लेनी चाहिए तथा उनके द्वारा देश समाज, व्यक्ति के सर्वांगीण विकास में किए गए कार्यों को जन-जन में पहुंचाना चाहिए आज देश राजनीतिक, आर्थिक संकट में है, 12 करोड़ से अधिक लोग वैश्विक महामारी कोरोना में बेरोजगार हो गए, हम लगातार मांग कर रहे हैं कि जब तक जरूरतमंद लोग के खाते में सीधा 15000 रुपये नहीं डाला जाएगा बाजार में तरलता नहीं आएगी ना इन महापुरुषों का सपना साकार होगा| आज हम आजादी के 74 साल बाद भी महात्मा गांधी जी, लाल बहादुर शास्त्री के सपनों का भारत नहीं बना पाए, उनका मानना था कि सत्य अहिंसा, नैतिक आचरण वह कुंजी है जिससे मानवता का विकास संभव है, उनका सपना था कि जब भारत आजाद होगा और अपनी सरकार होगी, तो समाज के अंतिम व्यक्ति को समान अवसर और न्याय मिलेगा, उसके जीवन में प्रकाश की किरण फैलेगी, लेकिन आज भीषण असमानता है, सामाजिक, राजनीतिक, आर्थिक, सांस्कृतिक और शैक्षणिक असमानता का पूरा देश शिकार है, 90 करोड़ पर न पूरी रोटी है, न कपड़ा, मकान तो उनके लिए दिवा स्वपन है, आज राजनीतिक चाटुकारिता हावी है, निजी स्वार्थ के लोग नैतिक कर्तव्यों को भूल रहे हैं, महिलाओं, बच्चों के साथ अन्याय अत्याचार हो रहा है, व्यवस्थापिका, कार्यपालिका पर निर्भर हो गई है, इस कारण आम जन न्याय से वंचित हो रहा है, उत्तर प्रदेश भी इन उपरोक्त कमजोरियों का शिकार है, गांधी जी, लाल बहादुर शास्त्री जी के विचार आज और भी महत्वपूर्ण हैं, जब विश्व में अशांति और भय का वातावरण है, यदि हम गांधी जी के सपनों का भारत बनाना चाहते हैं, तो हमें सद्भाव भाई-चारा, प्रेम सहयोग की भावना समाज में पैदा करनी होगी| जाति धर्म से ऊपर उठकर अच्छे ईमानदार लोगों के मार्गदर्शन में काम करना होगा, तभी हम देश समाज व्यक्ति के कल्याण का रास्ता निकाल सकते हैं इन दोनों महापुरुषों ने कठिन परिस्थितियों में देश का मार्गदर्शन किया हम नमन करते हैं, वंदन करते हैं| कार्यक्रम में शामिल रहे तथा श्रद्धा सुमन अर्पित किया| नीरज चौहान, शहाबुद्दीन, अमरपाल, डी0 के0 सिंह, ओम प्रकाश, अमृतलाल चौरसिया, मीना ठाकुर, श्री राम सिंह यादव, रामप्यारे यादव, ब्रह्म पाल, मनीराम यादव, देवमणि यादव, धर्मेंद्र यादव, बबलू यादव, कविता, अशोक, हरेंद्र यादव, विक्की, अनीता सिंह, लक्ष्मी यादव, वीरेंद्र गोस्वामी, संजू शर्मा, अनिता, कल्पना, सुरेंद्र यादव, राजेंद्र प्रसाद, अखिलेश शुक्ला, उपेंद्र यादव, दयाल शर्मा, रघुवीर, हरीश ठाकुर, राजपाल यादव, केदार सिंह, प्रेम चंद पटेल, सुरेश भारद्वाज, राजीव गर्ग, हरिशंकर यादव, हरी किशन यादव, अखिलेश आदि|