वीरेन्द्र यादव के समर्थन में विशाल जन-सभा का आयोजित



समीक्षा न्यूज संवाददाता

साहिबाबाद। समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने समाजवादी पार्टी के जिला महासचिव वीरेन्द्र यादव एडवोकेट भावी प्रत्याशी साहिबाबाद विधान सभा क्षेत्र के समर्थन में विशाल जन-सभा का आयोजन किया, सभा की अध्यक्षता समाजवादी पार्टी के उ0प्र0 सचिव बाबू सिंह आर्य ने की, आयोजन राजेश यादव तथा गणमान्य निवासियों, समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने संचालन साहिबाबाद विधान सभा क्षेत्र अध्यक्ष अवतार सिंह काले ने किया। सभा को अंशु ठाकुर महानगर छात्र सभा, महिला सभा उत्तर प्रदेश उपाध्यक्ष राजदेवी चौधरी, राजेश यादव, अरविंद यादव, ने भी सम्बोधित किया। समाजवादी पार्टी के वरिष्ट नेता शिक्षाविद राम दुलार यादव भी सभा में शामिल रहे।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए वीरेन्द्र यादव एडवोकेट जिला महासचिव समाजवादी पार्टी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमन्त्री जी की जन-विश्वास यात्रा कल गाजियाबाद में थी, मै यह पूछना चाहता हूँ कि आपने उत्तर प्रदेश में ऐसा कौन सा अनुकरणीय कार्य कर दिया कि जनता आप पर विश्वास करे, भारतीय जनता पार्टी ने जनता का पूरी तरह विश्वास खो दिया, कोरोना काल में न जनता को बेड मिला, न आक्सीजन, न दवाई न वेन्टीलेटर, आप की सरकार ने कोई महाविद्यालय या बड़ा हास्पिटल भी नहीं बनवाया, बल्कि आज उत्तर प्रदेश में भय और नफ़रत का वातावरण पैदा कर दिया, किसानों के शांतिपूर्ण सत्याग्रह पर गृह राज्य मंत्री के पुत्र ने गाड़ी चढ़ा मौत के घाट उतार दिया, कोरोना काल में भीषण गर्मी झेलते हुए अपने परिजनों के साथ अपने गृह जनपद जा रहे भूखे, प्यासे लोगों की कोई व्यवस्था तो की नहीं बल्कि प्रशासन द्वारा उनका उत्पीडन भी किया गया। बेरोजगारों, नवजवानों, शिक्षकों और छात्रों, प्रतियोगी छात्रों की मांगों पर तो विचार किया नहीं उन्हें लाठी-डंडों से उत्तर प्रदेश पुलिस ने पीट-पीटकर लहूलुहान कर दिया। गाजियाबाद जनपद में तो कोई भी विकास नहीं हुआ, यहाँ की जनता भाजपा सरकार में ठगी महसूस कर रही है। अब 5 साल पूरे होने को हैं अब जनता उत्तर प्रदेश में श्री अखिलेश यादव के नेतृत्व में सरकार बनाने का मन बना चुकी है, अब जनता जाति-धर्म, पाखण्ड के बहकावे में नहीं आने वाली है।

समाजवादी पार्टी के उत्तर प्रदेश सचिव बाबूसिंह आर्य ने सभी अतिथियों, समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि यह जुमालेबजों की सरकार ने गाजियाबाद की जनता को छलने का कार्य किया, यहाँ जानत को कोई मूलभूत सुविधा नहीं मिली, वर्षात में पूरा शहर जलमग्न हो जाता है, पानी निकासी की कोई व्यवस्था नहीं, महिलाओं के लिए विद्यालय और बच्चों के लिए खेल का मैदान, स्टेडियम का भी निर्माण नहीं किया, जनता अब मन्दिर, मस्जिद, हिन्दू–मुसलमान, गाय, गंगा को भूल विकास और विचार पर अपना समर्थन देगी।

मुख्य शामिल रहे: राम दुलार यादव, वीरेन्द्र यादव एडवोकेट, अवतार सिंह काले, बाबू सिंह आर्य, राजेश यादव, भगवती प्रसाद, पप्पन प्रजापति, जगवीर सिंह, उम्मेदपाल, महेन्द्र कोहली, राकेश कसाना, पप्पू सूर्यवंशी, अनीता सिंह, संजू शर्मा, राजदेवी चौधरी, इमरान, सत्यपाल प्रजापति, अरबिंद यादव, अवधेश यादव, राम प्यारे यादव, नागेन्द्र मौर्य, गुड्डू यादव, रविंदर यादव, अंशु ठाकुर, राकेश गोस्वामी आदि।