परिश्रम ही सफलता की कुंजी है- उप जिलाधिकारी



वाचस्पति रयाल—समीक्षा न्यूज 

सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ हुआ 7 दिवसीय एनएसएस शिविर का समापन

नरेंद्रनगर। यहां स्थित धर्मानंद उनियाल राजकीय महाविद्यालय की एनएसएस इकाई द्वारा कांडा में आयोजित सात दिवसीय शिविर का समापन रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ हो गया।

कांडा स्थित एनएसएस शिविर के दौरान बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे नरेंद्र नगर के उप जिला अधिकारी देवेंद्र सिंह नेगी तथा तहसीलदार रेनू सैनी ने कैंप के निरीक्षण के साथ एनएसएस के छात्र-छात्राओं द्वारा शिविर के दौरान किए जा रहे क्रियाकलापों/गतिविधियों का भी अवलोकन किया।



इस दौरान उप जिलाधिकारी ने कैंप में मौजूद एनएसएस के छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि आज के बच्चे कलके देश के भविष्य होंगे।

लिहाजा बहुत जरुरी है कि बच्चों के उत्कृष्ट,परिमार्जित तथा सुनियोजित भविष्य पर ही राष्ट्र का भविष्य भी निर्भर है।

उप जिलाधिकारी देवेंद्र सिंह नेगी ने कहा कि जीवन में आगे बढ़ने के लिए काम के प्रति लगन,निष्ठा समर्पण व संघर्ष से लवरेज व्यक्तित्व का होना पहली खूबी है।ऐसी राह पर चलने वालों ने सदैव बड़ा सा बड़ा मुकाम हासिल किया है।

उनका कहना था कि परिश्रम ही सफलता की कुंजी है। कहा कि प्रगति के शिखर पर पहुंचने के लिए कोई शॉर्टकट नहीं होता।आज के युग में पठन-पाठन में आधुनिक तकनीक का उचित इस्तेमाल जीवन को उच्च शिखर तक पहुंचाने में बेहद मददगार साबित होता है,बशर्ते कि तकनीक का उपयोग सही दिशा में हो।अपने जीवन के अनुभव भी उन्होंने स्वयंसेवियों के साथ साझा किये।

उप जिलाधिकारी ने एनएसएस इकाई द्वारा कांडा गांव और आसपास के इलाके में की गई साफ- सफाई,नशा मुक्ति के लिए जागरूकता आदि गतिविधियों के लिए सराहना की है।

एनएसएस के कार्यक्रम अधिकारी डा० संजय कुमार ने शिविर के समापन कार्यक्रम का संचालन करते हुए शिविर में उपस्थित मुख्य अतिथि उपजिलाधिकारी व विशिष्ट अतिथि तहसीलदार का आभार व्यक्त किया।

कैंम्प क्षेत्र में निर्मित एनएसएस वाटिका में पौधा रोपण कार्यक्रम में उप जिलाधिकारी ने हिस्सा लेते हुए कहा कि हम अधिक से अधिक पेड़ पौधे लगाकर अपने पर्यावरण को सरंक्षित कर सकते हैं।

बतौर विशिष्ट अतिथि शिविर में पहुंची तहसीलदार रेनू सैनी का स्वागत करते हुए शिविर की कैंप कमांडर तानिया सजवाण ने बैज अलंकरण कर किया।

इस मौके पर तहसीलदार रेनू सैनी ने उच्च स्तरीय प्रतियोगी परीक्षाओं के टिप्स स्वयंसेविओं को दिए। कहा कि इस तरह के शिविरों से जहां समाज सेवा के भाव उत्पन्न होते हैं, वहीं सामूहिक तौर पर काम करने का अनुभव भी प्राप्त होता है।

शिविर में पहुंचे डा०बिष्ट ने टीबी व एचआईवी आदि बीमारियों से बचाव की जानकारी दी।

बताते चलें कि राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वंयसेवियों द्वारा कार्यक्रम अधिकारी डॉ०संजय कुमार के निर्देशन में नरेन्द्रनगर शहर में सड़क सुरक्षा,पॉलिथिन उन्मूलन और पर्यावरण बचाओ के लिए जन जागरूकता रैली निकाली जिसमे एनएसएस के छात्र/ छात्राएं अपने हाथों में प्लास्टिक हटाओ,जीवन बचाओ,पालीथीन हटाओ,धरती बचाओं,प्लास्टिक हटाओं पर्यवारण बचाओ,हेलमेट पहनो, बोझ नहीं है, नो ड्रिंक,नो ड्राइव,दुर्घटना से देर भली   जैसे स्लोगनों से लिखी तख्तियों को लिए जोरदार नारे लगाते हुए बाजार के मुख्य मार्गों पर जन जागरूकता रैली निकालकर आम जन का ध्यान अपनी ओर खींचा।

इस 7 दिवसीय कैंप का उद्घाटन ग्राम पंचायत डौंर की प्रधान बीना कैंतुरा ने किया था। एन एस एस स्वयंसेवियों की रैली नरेंद्रनगर पहुंचने पर पालिका अध्यक्ष राजेंद्र विक्रम सिंह पंवार ने कार्यक्रम अधिकारी सहित स्वयंसेवियों के कार्यों की जमकर प्रशंसा की थी।

उद्घाटन के मौके पर कैंप स्थल में पहुंच कर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ उमेश चंद्र मैठानी ने शिविर की सफलता की कामना कर स्वयं सेवियों को शुभ कामनाएं दी।

शिविर के दौरान स्वयंसेवियों ने क्षेत्र के प्राकृतिक जल स्रोतों की साफ-सफाई,नशा मुक्ति,पैदल मार्गों पर उगी झाड़ी की सफाई,कैंम्प क्षेत्र में एन एस एस बाटिका निर्मित कर वृक्षारोपण करने, स्वयंसेवी संस्था आशा किरण सेवा आश्रम में निराश्रितों को फलाहार बितरण करने,शिक्षा,स्वास्थ्य, सड़क सुरक्षा आदि क्रियाकलाप प्रमुखता से किए गए।

इस मौके पर एक क्विज प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया,जिसमें प्रथम तीन स्थान प्राप्त करने वाले स्वंय सेवियों को ट्राफी प्रदान कर सम्मानित किया गया।

समापन के मौके पर डॉo विक्रम बर्त्वाल,डॉoचेतन भट्ट,महावीर सिंह रावत,मुकेश रावत,अजय,भूपेंद्र,  महेश कुमार,जयेन्द्र,मनीष कुमार, एवं मयंक,सुमित,उषा,सार्थक, सिमरन,तानिया सजवान,शालिनी, नीरज,सुनील भट्ट,अंजली रावत, दीपक,निकिता,शिवांग श्रीवास्तव, अंकिता,शिवम,तनवीर,नीरज, कार्तिक,आरती,नेहा,प्रिया,शिवानी व  अंजली नेगी आदि स्वयंसेवी भी उपस्थित थेI