दिल्ली की घटना पर राहुल प्रधान बोले-मैं इसको पत्थर जिहाद का नाम दूँगा



 ग़ाज़ियाबाद: हमेशा अपने बयानों को लेकर चर्चा में बने रहने वाले ग़ाज़ियाबाद से भाजपा (किसान मोर्चा) पूर्व राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य:राहुल प्रधान ने हनुमान जन्मोत्सव के दौरान दिल्ली में हुई पत्थरबाज़ी को लेकर एक बड़ा बयान दिया है.श्री प्रधान ने कहा कि मैं इसको पत्थर जिहाद का नाम दूँगा.उन्होंने कहा कि रामनवमी के दिन योजनाबुद्ध तरीक़े से पत्थर चलाए गए हैं इस घटना में विपक्षी दलों का भी हाथ हो सकता है श्री प्रधान ने आगे कहा कि हिंदू-मुस्लिम एकता पर नींबू निचोड़ने का काम राजनीतिक दल कर रहे है.श्री प्रधान कहते हैं कि पत्थर फेंके जा रहे है इसलिए बुलडोजर चलाया जा रहा है.अभी तक कश्मीर के लोगों ने पत्थर फेंकते हुए देखा गया,रामनवमी के दिन पूरे देश में पत्थर फेंके जा रहे हैं. श्री प्रधान ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि जुम्मे की नमाज़ के दिन मस्जिद से निकलती है,तो उनके हाथ में पत्थर होते हैं क्या मस्जिदों में पत्थर फेंकना सिखाया जाता है.उन्होंने दावा करते हुए कहा कि हनुमान जी के मंदिर से निकल कर किसी ने पत्थर नहीं फेंका, दुर्गा मंदिर से निकलकर किसी ने पत्थर नहीं फेंका था,गुरूद्वारे से निकलकर किसी ने पत्थर नहीं फेंका.

मुसलमानों का एक भी त्योहारों पर हिंदुओ ने पत्थर नहीं फेंका.लेकिन रामनवमी के दिन पत्थर क्यों फेंके जाएंगे! श्री प्रधान ने कहा,अगर पत्थर फेंके जाएंगे तो बुलडोज़र भी चलेगा. लाउड्स्पीकर को लेकर  उन्होंने कहा कि लाउड्स्पीकर पर हनुमान चालीसा पढ़ना किया की एक प्रतिकिया है. बहुत सारे देश है जहाँ पर अजान पर प्रतिबंध लगा दिया गया.मस्जिदों पर प्रतिबंध,बहुत सारे देश में मदरसों को बंद कर दिया गया.अगर परीक्षा के समय अजान से ध्वनि  प्रदूषण फैलाते हैं,तो उन्होंने लोगों से बंद कराने की माँग उठाई है.सरकार इस पर कोई नीति निर्धारित करेगी.अगर मदरसों से,मस्जिदों से आतंकी निकलेगे, सरकार जाँच कराएगी.श्री प्रधान ने कहा कि मुसलमान भारतीय जनता पार्टी के साथ खड़ा है क्योंकि हिंदू-मुसलमान करना विपक्ष का काम है.उन्होंने कहा कि मुसलमानो ने भाजपा को वोट दिया है तभी चार प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी है.