शहीदों की याद में हिंडन तट पर बने शहीद स्तंभ: बीके शर्मा


समीक्षा न्यूज संवाददाता

गाजियाबाद। 30 मई सन 1857 को हिंडन नदी के तट पर अंग्रेजी सैनिको से लड़ने वाले अमर शहीदों की याद में हिंडन तट पर बने शहीद स्तंभ व हिंडन नदी के तट को ऐतिहासिक स्थल घोषित करने हेतु पुनः निर्माणकराने के संबंध में गाजियाबाद प्रथम स्वतंत्रता संग्राम 1857 शहीद स्मारक समिति गाजियाबाद के तत्वाधान में श्रीमान योगी आदित्यनाथ जी महाराज मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जिला अधिकारी गाजियाबाद को ज्ञापन दिया गया संस्था के अध्यक्ष पंडित राम आसरेशर्मा ने कहा कि भारत माता की गुलामी की जंजीरों को तोड़ने के लिए सर्वप्रथम आजादी के विगुल की शुरुआत बैरकपुर छावनी से आजादी के दीवाने मंगल पांडे ने फौज में बगावत करके और अपनी शहादत से शुरू की जिस की चिंगारी मेरठ एवं संपूर्ण भारत में फैली उसी के परिणाम स्वरूप आजादी की पहली जंग अंग्रेजों से सीधे लड़ने का असर 30 व 31 मई1857 को हिंडन नदी तट गाजियाबाद पर उस समय गाजियाबाद जनपद के लोगों को मिला था गाजियाबाद जनपद की ग्रामीण जनता ने 30 व 31 मई को अपने प्राणों को देश के लिए निछावर करते हुए अंग्रेजी फौज को हिंडन नदी को पार नहीं करने दिया था आखिर अंग्रेजी फौज को वापस लौटना पड़ा कितने अंग्रेज भी इस युद्ध में मारे गए कुछ की कबरों की निशानी आज भी गाजियाबाद के हिंडन विहार क्षेत्र में अंग्रेजों की कबरो के नाम से जानी जाती है गाजियाबाद जनपद के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र कितने ही लोगों ने हिंडन नदी गाजियाबाद के तट पर भारत मां के जयघोष करते करते अपने प्राणों का बलिदान किया गाजियाबाद शहर में जनपद की जनता विशेषकर युवाओं को प्रथम स्वतंत्रता संग्राम 1857 की हिंडन के तट पर लड़ी गई आजादी की जंग की जानकारी देने व अमर शहीदों को श्रद्धांजलि पुष्पांजलि अर्पित करने का कोई भी स्थान नहीं बचा है शहीद स्मारक बस अड्डे के सामने गाजियाबाद में व्यापक रूप से भव्य श्रद्धांजलि कार्यक्रम किया जाता रहा है जिसमें नगर निगम गाजियाबाद की अहम भूमिका होती थी साथ में सलामी के तौर पर वहां पर उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा भी गारद मौजूद होती थी और भव्य शहीदों की याद में कार्यक्रम संचालित होते थे हमारी मांग है कि हिंडोन तट पर हुए इस युद्ध की जानकारी आने वाली पीढ़ी को होनी चाहिए जिसके लिए इन स्तंभों को पुणे स्थापित किया जाए अन्यथा इसकी जानकारी न होने से हमारी आने वाली युवा पीढ़ी वंचित रह जाएगी अगर शहीदों की याद में हिंडन तट पर कोई स्थान नहीं बना प्रथम स्वतंत्रता संग्राम अट्ठारह सौ सत्तावन शहीद स्मारक समिति गाजियाबाद राजनीतिक उत्तर प्रदेश 21 वर्षों से प्रत्येक वर्ष 30 व 31 मई को श्रद्धांजलि कार्यक्रम व जन जागरूकता अभियान चलाकर शहीदों को नमन करती आ रही है इस अवसर पर संस्था के मीडिया प्रभारी बीके शर्मा हनुमान महंत कैलाश गिरी महाराज संदीप त्यागी रसम देवाशीष ओझा सचिन भारतीय सुभाष त्यागी देवदत्त त्यागी चांद सिंह जितेंद्र जिंदल की पीएन गर्ग संतोष दिक्षित चंद्रहास शर्मा आदि मौजूद थे