नरेंद्रनगर स्थित मंडी समिति की विपणन व्यवस्था व ठोस संचालन को लेकर उच्च अधिकारियों की अध्यक्ष के साथ हुई बैठक


वाचस्पति रयाल, समीक्षा न्यूज 

नरेन्द्रनगर। कृषि के क्षेत्र में काश्तकारों को आत्मनिर्भर बनाने व नरेंद्रनगर के बगरधार स्थित कृषि मंडी को सुव्यवस्थित तौर-तरीकों से संचालित करने के मकसद से मंडी कार्यालय में मंडी समिति के अध्यक्ष वीर सिंह रावत की अध्यक्षता मेंं एक आवश्यक बैठक आहूत कु गयी।  

     इस बैठक में उत्तराखंड कृषि मंडी समिति के उपनिदेशक  विजय थपलियाल,सचिव अजय डबराल तथा मंडी समिति के उपाध्यक्ष सिद्धार्थ राना मौजूद थे।

   बैठक की अध्यक्षता करते हुए मंडी समिति के अध्यक्ष वीर सिंह रावत ने इस बात पर खास जोर दिया कि कृषि क्षेत्र में हो रही भारी प्रतिस्पर्धा के बीच काश्तकार अच्छी उपज पैदा करने के साथ अपने उत्पादन का उचित व लाभकारी मूल्य प्राप्त कर सकें।इस बिन्दु पर खास चर्चा उपरांत ठोस निर्णय लेने की आवश्यकता है।

   उपनिदेशक कृषि मंडी समिति उत्तराखंड विजय थपलियाल मंडी समिति के भौतिक निरीक्षण के बाद मंडी की उपयोगिता को भाँपते व समझते हुए कहा कि मंडी को फंक्शन में लाने के लिए क्षेत्र के व्यापारियों को लाइसेंस देने की कार्रवाई अमल में लाई जाएगी, नवीन मंडी स्थल में निर्मित दुकानों में से 10 दुकानें व्यापारियों में आवंटित  कर दी जानी चाहिए।

   उत्तराखंड के गढ़वाल मंडल मंडी समिति के सचिव अजय डबराल ने मंडी के प्रारंभिक संचालन के लिए प्रभावपूर्ण ढंग से काम करने की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि मंडी क्षेत्र में जन जागरूकता अभियान चलाकर व्यवसायियों व काश्तकारों के मध्य संवाद स्थापित करने की आवश्यकता है।

  नरेंद्रनगर मंडी समिति के उपाध्यक्ष सिद्धार्थ राणा ने क्षेत्र के खाद्यान्न व फल सब्जियों के थोक व्यापारियों से संपर्क कर लाइसेंस हेतु प्रेरित करने व साथ ही सधारण व  कोल्ड स्टोर रूम अलग-अलग व्यापारियों को आवंटित करने की बात कही।

  बैठक में निर्णय लिया गया कि आगामी कुछ दिनों में तुरंत दुकान व्यवसायियों को लाइसेंस देने की प्रक्रिया प्रारंभ करने के साथ दुकानों का आवंटन प्रारंभ किया जाएगा।