लोक शिक्षण अभियान ट्रस्ट ने शहीद चन्द्रशेखर आजाद का जन्म-दिन “समता और सम्मान” दिवस के रूप में मनाया


समीक्षा न्यूज संवाददाता

साहिबाबाद। ज्ञानपीठ केन्द्र 1, स्वरुप पार्क जी0टी0 रोड साहिबाबाद के प्रांगण में लोक शिक्षण अभियान ट्रस्ट द्वारा शहीद चन्द्रशेखर आजाद का जन्म-दिन “समता और सम्मान” दिवस के रूप में मनाया गया, कार्यक्रम में संस्था के संस्थापक/अध्यक्ष शिक्षाविद राम दुलार यादव मुख्य वक्ता के रूप में शामिल रहे| अध्यक्षता पण्डित कृष्ण कुमार दीक्षित शिक्षाविद ने, संचालन श्रमिक नेता अनिल मिश्र, आयोजन इंजी0 धीरेन्द्र यादव ने किया, इस अवसर पर शहीद चन्द्रशेखर आजाद पार्क में वृक्षारोपण किया गया, ज्ञानपीठ केन्द्र पर उपस्थित सैकड़ों साथियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं ने शहीद चन्द्रशेखर आजाद के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें याद किया। कार्यक्रम के अन्त में भोजन वितरित किया गया।



जन्म दिन समारोह को सम्बोधित करते हुए मुख्य वक्ता शिक्षाविद राम दुलार यादव ने कहा कि अदम्य साहस की प्रतिमूर्ति चन्द्रशेखर आजाद भारत की गुलामी, असमानता और गरीबी के बारे में अवगत थे, वे यह अल्पायु में ही जान लिए थे कि यहाँ ऊँच-नीच, जातिवाद, धार्मिक पाखण्ड की जड़ें बहुत ही गहरी हैं, जब भारत आजाद होगा तो सभी को समान अधिकार मिलेगा, अवसर की समानता होगी, लोगों का सामाजिक, आर्थिक, शैक्षणिक उत्थान होगा। राजनीतिक गैरबराबरी दूर होगी, शोषण विहीन, समतामूलक समाज बनेगा, सभी का सम्मान होगा, उन्होंने हिंदुस्तान सोसिलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन संस्था की स्थापना की, उनका मानना था आजादी के बाद लोकतंत्र मजबूत होगा, हजारों नवजवानों ने ने देश की आजादी और शोषण, अन्याय के समूल नाश के लिए हँसते-हँसते अपने प्राणों की आहुति दे दी लेकिन आजादी के 75 वर्ष होने को है हम असमानता, जातिवाद, शोषण, अन्याय, अनाचार, धार्मिक पाखण्ड को समाप्त  नहीं कर पाये, आज मंहगाई, बेरोजगारी, नफ़रत, असहिष्णुता का वातावरण बना हुआ है, सद्भाव, भाईचारा, समता, स्वतंत्रता, न्याय और बंधुता का देश में अभाव हो गया है, जिन पर जनता की सेवा का दायित्व है ज्यादातर लोग भ्रष्टाचार में लिप्त वातावरण को प्रदूषित कर रहे है, शहीदों, स्वतंत्रता सेनानियों ने क़ुर्बानी दी लेकिन हम उनके सपनों का भारत आज भी नहीं बना पाये, हमें स्वार्थ से  ऊपर उठकर देश और देश वासियों के दुःख-दर्द को दूर करने का कार्य करना चाहिए तभी हम शहीद चन्द्रशेखर आजाद को स्मरण करने के अधिकारी होंगें। उनके साथ न्याय कर पायेंगें| 

कार्यक्रम को अंशु ठाकुर, हरिशंकर वर्मा, सहदेव गिरी, महिला उत्थान संस्था की राष्ट्रीय अध्यक्ष बिन्दू राय ने भी सम्बोधित किया, कार्यक्रम में शामिल रहे, वीरेन्द्र यादव एडवोकेट, ठाकुर विक्की सिंह, अवधेश यादव, शिवानन्द चौबे, सुरेन्द्र यादव, गुड्डू यादव, अनिल मिश्र, हरिशंकर वर्मा, विजय मिश्र, कृष्ण कुमार दीक्षित, ओम प्रकाश अरोड़ा, देव कर्ण चौहान, बिन्दू राय, रेनूपुरी, मुनीव यादव, फूलचंद वर्मा, अंशु ठाकुर, हरीश ठाकुर, सी0पी0 सिंह, सहदेव गिरी, संजू शर्मा, गुरु प्रसाद, अशोक कुमार, भीम सिंह चौहान, मोहम्मद अली, देवमनि  यादव, कुवर पाल सिंह, आर0के0 गुप्ता, सुरेन्दर कुमार, पुष्पेन्द्र सिंह, फकरुद्दीन, एस0एन0 अवस्थी, ज्योति, सविता, रंजना, मिथिलेश,उर्मिला आदि।