सभी को हर समय मिले उपयोगी पुस्तकें: रामदुलार यादव

समीक्षा न्यूज संवाददाता 

लोक शिक्षण अभियान ट्रस्ट के नवनिर्मित कार्यालय का हुआ उद्घाटन

सभी को हर समय मिले उपयोगी पुस्तकें: रामदुलार यादव



साहिबाबाद। लोक शिक्षण अभियान ट्रस्ट द्वारा सन्त कबीर नि:शुल्क पुस्तकालय, वाचनालय ए- 6, 7 श्याम पार्क मेन मार्किट साहिबाबाद के प्रांगण में कार्यक्रम का आयोजन इंजी0 धीरेन्द्र यादव ने किया, कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डा0 विशन लाल गौड़ पूर्व प्राचार्य, शिक्षाविद रहे, अध्यक्षता लोक शिक्षण अभियान ट्रस्ट के संस्थापक/अध्यक्ष समाजवादी विचारक राम दुलार यादव ने, संचालन मुकेश शर्मा समाज सेवी ने किया, इस अवसर पर लोक शिक्षण अभियान ट्रस्ट के नवनिर्मित कार्यालय का उद्घाटन अपार जन-समूह की उपस्थिति में किया गया, पूर्वांचल भोजपुरी महासंघ के अध्यक्ष अशोक श्रीवास्तव, वरिष्ट पत्रकार एस0पी0 सिंह चौहान, पार्षद पं0 विनोद शर्मा, एस0पी0 छिब्बर, डी0पी0 मौर्य, रामप्यारे यादव, हरिशंकर वर्मा, अवधेश मिश्र एडवोकेट, मनोहरलाल कश्यप नेताजी ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया तथा कहा कि देश, समाज में शिक्षा का प्रचार-प्रसार करना, ज्ञान की अलख जगाना, प्रतियोगी छात्र-छात्राओं को आवश्यक उच्च शिक्षा की पुस्तकें उपलब्ध करना बहुत ही सराहनीय है। पत्र-पत्रिकाएँ, विज्ञान, साहित्य, दर्शन, राजनीतिक विचारकों की उच्चकोटि की पुस्तकें लोक शिक्षण अभियान ट्रस्ट द्वारा संचालित पुस्तकालयों में उपलब्ध हैं, सैकड़ों जरूरतमंद बच्चे इन पुस्तकालयों में ज्ञानार्जन कर रहे हैं। संस्था ने वैश्विक महामारी कोरोना काल में दवाई, ऑक्सीजन से लेकर खाद्यान्न और हर प्रकार की मदद प्रभावित हजारों लोगों में की है। चाहे वह पैदल कष्ट उठाकर भीषण गर्मी में अपने परिवार के साथ अपने पैतृक स्थान पर जा रहे हों और चाहे वह स्थानीय निवासी हों, संस्था लगातार काम कर रही है।



मुख्य अतिथि डा0 विशन लाल गौड़ ने फीता काटकर विधिवत कार्यालय का उद्घाटन करते हुए उपस्थित जन-समूह को आशीर्वाद देते हुए कहा कि शिक्षा वह हथियार है जिससे हम कर्तव्य, अधिकार को जान नैतिक आचरण कर देश, समाज व व्यक्ति के सर्वांगीण विकास के लिए काम कर सकते है, शिक्षा अन्धकार को मिटा प्रकाश फैलाती है, हम सही दिशा में कार्य करते हैं, शिक्षित व्यक्ति ही देश में सद्भाव, भाईचारा और प्रेम भावना को पुष्पित-पल्वित कर सकता है। हमारे शिष्य राम दुलार यादव की अध्यक्षता में शिक्षा का प्रचार-प्रसार हो रहा हमारा निरन्तर आशीर्वाद है, यह ज्योति अनवरत जलती रहे। 



संस्था के अध्यक्ष राम दुलार यादव ने कहा कि लोक शिक्षण अभियान ट्रस्ट स्वतंत्रता सेनानियों, शहीदों का लगातार स्मरण कर उनके व्यक्तित्व और कृतित्व को जन-जन में प्रचारित करती है कि देश को गुलामी से मुक्ति दिलाने में उन्होंने कितना कष्ट झेला, फांसी के फन्दे को हँसते-हँसते चूम लिया, उन सन्त-महात्माओं के अवतरण दिवस को भी आयोजित करती है जिन्होंने समता, समानता, न्याय और बंधुता के लिए तथा जाति विहीन, पाखण्ड रहित, परम्परावाद, रूढ़िवाद, कर्मकांड, अन्धविश्वास के समूल नाश की लड़ाई लड़ी, संस्था का उद्देश्य नफ़रत, असहिष्णुता, भय, भ्रम का देश से खात्मा हो व्यक्ति आपस में प्रेम और सहयोग की भावना से कार्य करें, ईर्ष्या, द्वेष की भावना का समूल नाश हो यह शिक्षा से ही सम्भव है, मेरा मानना है कि जितने भी पुस्तकालय हमने जिन क्षेत्रों में संचालित किया है उनमे केवल छात्र-छात्राएँ ही नहीं सभी भाई-बहनों के लिए भी उपयोगी पुस्तकें हर समय मिलती हैं, नेल्सन मन्डेला ने कहा है कि “दुनिया को बदलने का सबसे शक्तिशाली हथियार शिक्षा है” डा0 अम्बेदकर ने कहा है कि “शिक्षा वह शेरनी का दूध है जो पियेगा, वही दहाड़ेगा”। कार्यक्रम के अन्त में विशाल भण्डारे का आयोजन किया गया सैकड़ों लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया।



कार्यक्रम में राम शरण शर्मा प्रधान, शिवशंकर आनन्द, लक्ष्मन प्रसाद, सचिन डागर पार्षद, वीरेन्द्र यादव एडवोकेट, श्रीपाल चौधरी, राजपाल यादव, देवकर्ण चौहान, ओम प्रकाश अरोड़ा, सतीश, राजू लौहरिया, रेनूपुरी, उर्मिला पटेल, बिन्दू राय, मास्टर मोहम अली, बी0 एन0 तिवारी, सुजय तिवारी, सुनील चौहान एडवोकेट, हाजी मोहम्मद सलाम, मुनीव राम यादव, भीम सिंह चौहान, एस0एन0 जायसवाल, अवधेश यादव, गुड्डू यादव, अंशु ठाकुर, बाल करन यादव, विशाल चहल, डा0 नीतू जैन, धर्मेश शर्मा, राम पाल त्यागी, अशोक मित्तल, श्रीपाल कश्यप, संजीव राय एडवोकेट, अमर बहादुर, लक्ष्मी नारायण सहगल, सुभाष यादव, अखिलेश कुमार शुक्ला, सौरभ यादव, डा0 सरोज यादव, हरी किशन यादव, हरीश ठाकुर, विजय भारद्वाज, विजय वीर, संजय पटेल, राहुल यादव, शिवानन्द चौबे, उदय प्रताप, अमरनाथ, आशीष यादव, सन्त लाल, फूलचंद पटेल, सुशील वर्मा, संजय शर्मा, जगन्नाथ यादव आदि शामिल रहे।