विज्ञान में उभरती नन्हीं प्रतिभायें हैं भविष्य की बड़ी उम्मीदें: सेमवाल

विज्ञान की विभिन्न प्रतियोगिताओं में 42 छात्र-छात्राओं का प्रदेश के लिए चयन 



समीक्षा न्यूज संवाददाता

वाचस्पति रयाल

नरेन्द्रनगर। यहां स्थित नगर पालिका के रामलीला मैदान में 2022 का त्रि-दिवसीय जिला स्तरीय विज्ञान महोत्सव का समापन विजेता -उपविजेता प्रतिभागियों को प्रशस्ति पत्र, बैग्स प्रदान करते हुए शानदार रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के साथ हो गया।

बताते चलें कि तीन दिवसीय डॉक्टर अब्दुल कलाम आजाद गणित /विज्ञान पर्यावरण महोत्सव 2022 के आयोजन के मौके पर जिले के 9 विकास खंडों से आए लगभग 400 प्रतिभागी छात्र-छात्राओं ने पोस्टर्स- प्रोजेक्ट्स के प्रेजेंटेशन में जबरदस्त हुनर का प्रदर्शन किया।

कार्यक्रम के अंत में आयोजकों द्वारा जनपद के विभिन्न विद्यालयों से आए विजेता /उपविजेता प्रतिभागियों को पुरस्कृत कर सम्मानित किया गया।

टिहरी जनपद में मुख्य शिक्षा अधिकारी रहे व वर्तमान में हरिद्वार जिले के शिक्षा अधिकारी शिव प्रसाद सेमवाल बतौर विशिष्ट अतिथि महोत्सव के समापन अवसर पर कार्यक्रम में शामिल हुए।

बताते चलें कि शिव प्रसाद सेमवाल कई वर्षों तक टिहरी जिले में मुख्य शिक्षा अधिकारी रहे, उनके कार्यकाल के दौरान टिहरी जिले ने विज्ञान इंस्पायर्ड अवार्ड से लेकर विज्ञान विषय की प्रतियोगिताओं में वर्ष 2015 से अब तक निरंतर प्रदेश भर में पहले पायदान पर बना हुआ है। इस कामयाबी के लिए आज भी टिहरी जिले का शिक्षक समाज श्री सेमवाल के मार्गदर्शन और प्रेरणा का कायल है।

कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि शामिल हुए हरिद्वार के शिक्षा अधिकारी शिवप्रसाद सेमवाल ने अपने संबोधन में अपने पिछले कार्यकाल के कार्यों की याद ताजा करते हुए कहा कि लग्न,निष्ठा व कठोर मेहनत की बदौलत सफलता के शिखर पर पहुंचना कठिन नहीं है।

प्रतिभागी छात्र-छात्राओं द्वारा निर्मित पोस्टर्स तथा प्रोजेक्ट्स के अवलोकन के बाद उन्होंने कहा कि विज्ञान में उभरती ये नन्हीं प्रतिभाएं भविष्य की बड़ी उम्मीदें हैं।

श्री सेमवाल ने जिले से प्रदेश के लिए चयनित छात्र-छात्राओं के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि उनकी मेहनत इस बार भी जिले का नाम देश और प्रदेश में रोशन करेगी। इसके लिए उन्होंने शिक्षकों की भी जमकर प्रशंसा की।

जनपद के मुख्य शिक्षा अधिकारी ललित मोहन चमोला ने विशिष्ट अतिथि का आभार व्यक्त करते हुए विजेता व उप विजेता छात्र-छात्राओं  के उज्जवल भविष्य व प्रतियोगिता में सफलता की कामना करते हुए कहा कि जिस तरह से विज्ञान में टिहरी जिला वर्षों से नंबर वन बना हुआ है, इसी तरह से मेहनती छात्र-छात्रायें निश्चित ही आगे भी इस पोजीशन को बरकरार रखने में कामयाब रहेंगे। विज्ञान की जिले में प्रगति के लिए उन्होंने शिक्षकों की भी जमकर तारीफ की।



कार्यक्रम का संचालन कर रहे जिले के विज्ञान समन्वयक व कार्यक्रम के संयोजक अलख नारायण दुबे ने विशिष्ट अतिथि सहित जिले तथा ब्लॉक अधिकारियों का सम्मान करते हुए, विजेता छात्र -छात्राओं की सफलता की कामना की।

इस अवसर पर विज्ञान मेला, विज्ञान प्रदर्शनी एवं विज्ञान ड्रामा के परिणामों की भी घोषणा की गई।

विज्ञान मेले के व्यक्तिगत प्रोजेक्ट में विपिन पंवार,रोहित चौहान, मनीष सिंह पहले, दूसरे व तीसरे स्थान पर रहे।जबकि टीम प्रोजेक्ट में सुदर्शन व युवराज तथा आदित्य व दीपक एवं कंचन व प्रीति क्रमशः प्रथम ,द्वितीय, तृतीय स्थान पर रहे।

जबकि जूनियर वर्ग विकास प्रदर्शनी में मोहम्मद अफ्फान,सृष्टि एवं दिव्यांशी पहले,दूसरे व तीसरे स्थान पर रहे।

पर्यावरण अनुकूल सामग्री प्रतियोगिता में पल्लवी, साजन, एवं अमन क्रमशः पहले,दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे।स्वास्थ्य एवं स्वच्छता प्रतियोगिता में शिवांश, तनुज, मानसी नौटियाल ने क्रमशः प्रथम, द्वितीय व तृतीय तथा परिवहन नवाचार प्रतियोगिता में काजल, अजय एवं प्रणव भट्ट पहले, दूसरे, तीसरे स्थान पर रहे।

पर्यावरण संबंधित चिंताएं प्रतियोगिता में अंशिका उनियाल, प्राची एवं तमन्ना पहले, दूसरे व तीसरे स्थान पर रहे।

जबकि वर्तमान नवाचार के साथ ऐतिहासिक विकास प्रदर्शनी में अनुष्का रावत,निहाल व अंकुश तथा हमारे लिए गणित प्रदर्शन में सक्षम जोशी ,नारायण भंडारी व वंशिका क्रमशः प्रथम ,द्वितीय व तृतीय स्थान पर रहे ।

जबकि सीनियर वर्ग विज्ञान प्रदर्शनी में सागर रावत पहले,विकास रावत दूसरे  व प्रदीप पंवार तीसरे स्थान पर रहे।

पर्यावरण अनुकूलन में राखी ,सुजन व सुमन ने प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पाने में कामयाबी हासिल की।

स्वास्थ्य और स्वच्छता विषय में अरुण, नंदिनी,अनुष्का क्रमशः पहले,दूसरे व तीसरे स्थान पर रहे।

परिवहन और नवाचार विषय के अंतर्गत हुई प्रतियोगिता में जतिन, आंचल व मयंक शाह ने प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान हासिल करने में कामयाबी प्राप्त की।

पर्यावरण संबंधी चिंताएं विषय में अंबिका,जसवीर ,हिमांशु पांडे, तथा वर्तमान नवाचार के साथ ऐतिहासिक विकास विषय में रोहन राणा, कुमारी नताशा व दिवाकर रतूड़ी, जबकि हमारे लिए गणित विषय की प्रतियोगिता में पीयूष जोशी, संचिता नेगी व मनीषा नेगी, सभी ने अपने-अपने प्रतियोगी विषयों में प्रथम ,द्वितीय व तृतीय स्थान पानी में कामयाबी हासिल की।

विज्ञान ड्रामा की प्रतियोगिता में राजकीय इंटर कॉलेज श्रीकोट जौनपुर की टीम पहले स्थान पर रही।

विजेता व उप विजेता प्रतिभागी छात्र-छात्राओं को विशिष्ट अतिथि शिव प्रसाद सेमवाल,जिला मुख्य शिक्षा अधिकारी ललित मोहन चमोला ,खंड शिक्षा अधिकारी ओम प्रकाश वर्मा ,विज्ञान समन्वयक अलख नारायण दुबे व प्रधानाचार्य पंकज ड्यूँडी द्वारा प्रशस्ति पत्र व ट्रैक सूट प्रदान किये गये।

इस मौके पर प्रतिभागी छात्र-छात्राओं को गाइड करने वाले शिक्षक-शिक्षिकाओं में पौड़ीखाल के सुनील चंद्र पुरोहित, डांग चौंरा के विनोद कुमार मंमगाई, हिंसरिया खाल के हर्ष मणि पांडे, विजय पाल सिंह, उमेद सिंह रावत ,नरेंद्र सिंह, बबीता चौहान, रविंद्र दत्त ,योगेश बहुगुणा ,मदन मोहन उनियाल, गौतम कुमार ,आलोक गौतम, मीना डोभाल ,अंजना सेमवाल, अमित शर्मा,अशोक बडोनी,बॉबी श्रीवाल, लक्ष्मी रावत, कुसुम उनियाल, ओम प्रकाश असवाल ,अनुराधा, विनोद प्रसाद, उद्धव प्रसाद लखेड़ा व संगीता तोपवाल आदि थे।